Home COVID-19 Truth Fact Check: मास्क को लेकर यूपी पुलिस नहीं शुरू कर रही कोई...

Fact Check: मास्क को लेकर यूपी पुलिस नहीं शुरू कर रही कोई अभियान, फेक मैसेज वालों पर होगी कार्रवाई

ये दावा किया गया है कि 26 फरवरी से यूपी पुलिस मास्क को लेकर सुबह 9 बजे से विशेष अभियान शुरू कर रही है. लोगों से मास्क पहनने की अपील के साथ ही 10 घंटे की अस्थाई कारावास से बचने की सलाह दी जा रही है.

कोरोना से बचाव को लेकर अब भले ही वैक्सीन का प्रयोग शुरू हो गया है, लेकिन अभी भी सरकार की गाइड लाइन के मुताबिक लोगों को शारीरिक दूरी और मास्क का प्रयोग करना है. वहीँ पुलिस बीते एक साल से बिना मास्क वाले लोगों को जागरूक कर अभियान भी चला रही है. इसी बीच बीते दो दिनों से सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफ़ॉर्म पर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें ये दावा किया गया है कि 26 फरवरी से यूपी पुलिस मास्क को लेकर सुबह 9 बजे से विशेष अभियान शुरू कर रही है. लोगों से मास्क पहनने की अपील के साथ ही 10 घंटे की अस्थाई कारावास से बचने की सलाह दी जा रही है. पोस्ट वायरल होने के बाद खुद इस पर यूपी पुलिस ने सफाई दी है कि इस तरह का कोई आदेश नहीं दिया गया है. वायरल मैसेज पूरी तरह फेक है.

ये हो रहा है वायरल

व्हाट्सएप्प समेत कई सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर ये मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें एक सन्देश लिखा है, लोग इसे कई ग्रुप्स में शेयर कर पूछ रहे हैं क्या ये वाकई सच है.

कल प्रातः 9 बजे से उत्तर प्रदेश के सभी थाना क्षेत्रों में मास्क चैकिंग का 30 दिनों का अभियान चलेगा सभी शहर एवं ग्रामवासी *मास्क का प्रयोग करें और चालान की कार्यवाही से बचें और साथ ही 10 घंटे की अस्थाई कारावास (जेल) सजा से भी बचे।_

      निवेदक – उत्तर प्रदेश पुलिस

      जनहित में जारी….*

जब ये मैसेज लोगों के बीच कौतूहल बन गया और लोग कई पुलिस अधिकारियों को ट्विट करने लगे. जिसके बाद यूपी पुलिस के अधिकृत ट्विटर अकाउंट से ट्विट कर बताया गया कि मास्क के चालान को लेकर वायरल मैसेज पूरी तरह फर्जी है. यूपी पुलिस इस तरह का कोई अभियान शुरू नहीं कर रहा है. यही नहीं मैसेज वायरल करने वालों पर कार्रवाई की बात भी कही गयी है.यानी आप भी ऐसे मैसेज फारवर्ड न करें.

Postmortem रिपोर्ट: यूपी पुलिस के ट्विट के बाद ये तय हो गया कि इस तरह का मैसेज पूरी तरह फेक है. इसलिए आप भी इस तरह का कोई मैसेज न शेयर करें.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Fact-Check: क्या नूपुर शर्मा को फटकार लगाने वाले जस्टिस जे बी पारदीवाला 80 के दशक में कांग्रेस के विधायक रहें हैं?

The News Postmortem : बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने 1 जुलाई को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि...

Fact-Check: क्या उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को राहुल गांधी ने बच्चे कहा ?

The News Postmortem: उदयपुर हत्याकांड से पूरा देश सन्न है।इस बीच कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी का इंटरव्यू सोशल मीडिया पर वायरल...

Fact-Check: क्या मीडिया से बात करते हुए नशे में धुत थे पूर्व शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे?

The News Postmortem :इन दिनों महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल मची हुई है। इसके मद्देनजर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो...

Fact-Check: क्या वायरल वीडियो में शिवलिंग पर बीयर चढ़ा रहे युवक मुस्लिम समाज से हैं?

The News Postmortem: सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दो युवक एक नदी किनारे शिवलिंग पर बीयर चढ़ाते हुए...

Recent Comments

vibhash