Home Viral सच्चाई #FactCheck 7 साल पहले भी मुकेश अंबानी दुनिया के अमीरों में टॉप—100...

#FactCheck 7 साल पहले भी मुकेश अंबानी दुनिया के अमीरों में टॉप—100 में थे, गलत है यह पोस्ट

क्या आज से ठीक 7 साल पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी टॉप 100 में भी नहीं थे. मतलब 2013 में कांग्रेस सरकार में उनकी गिनती दुनिया के टॉप—100 अमीरों में भी नहीं होती थी.

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी की गिनती इस समय दुनिया के पांचवें सबसे अमीर शख्स में होती है लेकिन क्या आज से ठीक 7 साल पहले वह टॉप 100 में भी नहीं थे. मतलब 2013 में कांग्रेस सरकार में उनकी गिनती दुनिया के टॉप—100 अमीरों में भी नहीं होती थी. क्या 2014 में भाजपा या ये कहे कि नरेंद्र मोदी की सरकार आने के बाद उन्होंने इतनी तरक्की की है. दरअसल, कुछ इन्हीं मायनों के साथ मैसेज फेसबुक और ट्विटर पर तेजी से शेयर हो रहे हैं. The News Postmortem ने इस मैसेज कह सच्चाई जानने के लिए पड़ताल शुरू की.

Roshni Kushal Jaiswal के नाम से बने फेसबुक पेज पर 23 जुलाई के इस तरह की पोस्ट की गई. वाराणसी से खुद को कांग्रेस का सिपाही बताने वाली रोशनी की पोस्ट में लिखा है,
मुकेश अम्बानी दुनिया के 5वें सबसे अमीर आदमी बने. ठीक 7 साल पहले ये टॉप 100 में भी नहीं आते थे. हुआ न विकास? अब भी न समझ में आए तो मूर्खभक्त नहीं महामूर्ख भक्त हो।
इस पोस्ट को 1800 से ज्यादा लोगों ने शेयर किया है.

मुकेश अम्बानी दुनिया के 5वे सबसे अमीर आदमी बने ठीक 7 साल पहले ये टॉप 100 में भी नहीं आते थे हुआ न विकास ? अब भी न समझ में आए तो मूर्खभक्त नहीं महामूर्ख भक्त हो।

Posted by Roshni Kushal Jaiswal on Thursday, July 23, 2020

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

कुछ इसी तरह की पोस्ट और भी फेसबुक यूजर्स ने की हैं. Andh bhakt door rahe नाम से बने फेसबुक पेज से भी 23 जुलाई को इसी तरह की पोस्ट शेयर की गई.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

The Salman official नाम से बने फेसबुक पेज से भी 24 जुलाई को बिल्कुल इसी तरह की पोस्ट शेयर की गई.

मुकेश अम्बानी दुनिया के 5वे सबसे अमीर आदमी बने ठीक 7 साल पहले ये टॉप 100 में भी नहीं आते थे हुआ न विकास ? अब भी न समझ में आए तो मूर्खभक्त नहीं महामूर्ख भक्त हो।

Posted by The Salman official on Thursday, July 23, 2020

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

हमने गूगल पर इसकी सर्च की तो 2020 के दुनिया के अमीरों की सूची सामने आई. livehindustan के मुताबिक, 22 जुलाई को फोर्ब्स द्वारा जारी रियल टाइम बिलिनयर्स की लिस्ट में मुकेश अंबानी दुनिया के अमीरों में पांचवें नंबर पर आ गए. उनकी कुल संपत्ति करीब 75 अरब डॉलर मतलब 5630 अरब रुपये हो गई है. हालांकि, जुलाई के दूसरे हफ्ते में वह छठे नंबर पर थे. लिस्ट में अमेजन के CEO जेफ बेजोस 185.8 अरब डॉलर के साथ पहले नंबर पर हैं जबकि 113.1 अरब डॉलर के साथ बिल गेट्स दूसरे नंबर पर हैं. बर्नार्ड अर्नोट परिवार 112 अरब डालर के साथ तीसरी और फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग 89 अरब डालर के साथ चौथी पोजीशन पर है. बता दें कि शेयर उपर—नीचे होने से इनका सिंहासन भी खिसकता रहता है.

अब देखते हैं कि 7 साल पहले मुकेश अंबानी का अमीरों में कौन सा नंबर था. 2013 की फोर्ब्स की अमीरों की अनुअल लिस्ट देखने पर पता चला कि मुकेश अंबानी का उसमें 22वां नबर था मतलब 2013 में कांग्रेस सरकार में अमीरों में वह 22वें नंबर थे. livemint के मुताबिक, 21.5 बिलियन डॉलर के साथ मुकेश अंबानी उस साल भी भारत के सबसे अमीर शख्स रहे. इस कुर्सी पर वह लगातार छह साल से बने हुए थे.

Forbes richest persons list of 2013
Source:Forbes

2012 की ओर भी देखते हैं तो मुकेश अंबानी उस साल अमीरों में 19वीं पोजीशन पर थे. Forbes के अनुसार, 2012 में Reliance Industries Limited के चेयरमैन मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति 22.3 बिलियन डॉलर आंकी गई थी. इतनी संपत्ति के बल पर वह दुनिया के अमीरों में 19वें नंबर पर रहे थे. हालांकि, उन्हें 2011 के मुकाबले 4.7 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था.

2014 में भाजपा की सरकार आने के बाद उनकी पोजीशन नीचे जरूर हुई थी लेकिन फिर भी वह टॉप—100 से बाहर नहीं हुए थे. economictimes के अनुसार, 2014 के अमीरों में उनकी पोजीशन 40वीं थी. हालांकि, उनकी भारत के सबसे अमीर की पदवी लगातार सातवें साल बरकरार रही थी. हां, दुनिया के अमीरों की सूची में यह ​उससे पहले के आठ साल में उनकी उनकी सबसे खराब स्थिति थी. उस समय उनकी प्रॉपर्टी 18.6 डॉलर थी. 2006 में 8.5 मिलियन डॉलर के साथ उनकी पोजीशन 56वीं थी. 2005 में रिलांयस के बंटवारे के साथ ही मुकेश और अनिल अंबानी अलग हो गए थे.

Mukesh Ambani Viral Post
Source: Google

Postmortem रिपोर्ट: रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी सात साल पहले तो क्या उससे पहले भी अमीरों की सूची में टॉप—100 से बाहर नहीं हुए. 2006 के बाद से वह हमेशा टॉप—100 में बने हुए हैं. इससे यह बात गलत साबित होती है कि मुकेश अंबानी 2013 में टॉप—100 की सूची में नहीं थे.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash