Home Political सच Fact Check: क्या अडानी ग्रुप खरीद रहा है मुंबई का छत्रपति शिवाजी...

Fact Check: क्या अडानी ग्रुप खरीद रहा है मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस स्टेशन

कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने ट्वीट किया है कि भारतीय रेलवे की सबसे भव्य इमारत वाला मुंबई का रेलवे स्टेशन विक्टोरिया टर्मिनस उर्फ़ छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस को अडानी खरीद रहे हैं.

भारतीय रेलवे के निजीकरण का काफी हल्ला मचा हुआ है. कांग्रेस लगातार भाजपा सरकार पर देश को बेचने का आरोप लगाते हुए नाक में दम किए हुए हैं. कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी भी इस काम में पीछे नहीं रहते हैं. कई बार तो सोशल मीडिया पर फेक पोस्ट के सहारे वह भी मामला गरमा देते हैं.

मध्य प्रदेश की राउ विधानसभा सीट से विधायक जीतू पटवारी ने 27 सितंबर को ट्वीट किया है,
भारतीय #रेलवे की सबसे भव्य इमारत वाला मुंबई का रेलवे स्टेशन विक्टोरिया टर्मिनस उर्फ़ छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस को खरीद रहे हैं #अड़ानी
हर हर मोदी हर मोदी

Jitu Patwari Tweet

पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें.

अक्सर सुर्खियों में रहने के लिए जीतू पटवारी एसी पोस्ट कर देते हैं जो हमारी पड़ताल में गलत साबित हुई है. जैसे, ‘ट्रेन में भिखारियों को नहीं मिलेगी छूट, कांग्रेस नेता ने कर दिया फर्जी ट्वीट’ और ‘कांग्रेस विधायक ने PM Modi मोदी को लेकर फिर बोला झूठ, फर्जी है यह ट्वीट’. इस वजह से The News Postmortem के सामने जब यह पोस्ट आई तो हमने इसकी पड़ताल शुरू की.

गूगल पर ‘CSMT: छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन bid’ कीवर्ड से सर्च किया तो हमें Bloomberg Quint का एक लिंक मिला. इसमें 25 सितंबर को छपी खबर के मुताबिक, मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन के रिडेवलेपमेंट के लिए एक मीटिंग हुई है. रेलवे स्टेशन की प्री-बीड मीटिंग में टाटा, अडानी, लॉरसेन एंड टर्बो व जीएमआर ग्रुप समेत 43 कंपनियों ने हिस्सा लिया. इस वर्चुअल मीटिंग में नीति आयोग के सीईओ और रेलवे बोर्ड चेयरमैन भी मौजूद रहे. रेलवे स्टेशन को मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब बनाने के लिए इसके रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट में 1682 करोड़ रुपये की लागत आएगी. 25 लाख स्क्वायर फीट के क्षेत्र में यह कार्य होगा. इसकी अवधि करीब चार साल होगी.

chatrapati shivaji maharaj terminus railway station image
Source: Google

Times Now के अनुसार, Chhatrapati Shivaji Maharaj Terminus (CSMT) के रिडेवलपमेंट का कार्य Public–Private Partnership (पीपीपी) मॉडल के तहत होगा. प्रीबिड मीटिंग में कुछ विदेशी कंपनियों ने भी रुचि दिखाई है. यूनेस्को द्वारा वर्ल्ड हेरिटेज साइट घोषित हो चुका रेलवे स्टेशन मुंबई सिटी का दिल है. प्रोजेक्ट के तहत इसे दिव्यांगों के लिए फेंडली बनाना और यात्रियों के लिए और सुविधाजनक करना होगा.

Navbharat Times के अनुसार, अडानी इससे पहले नई दिल्ली रेलवे स्टेशन में भी अपनी रुचि दर्शा चुके हैं. निजी कंपनी को रेलवे स्टेशन कामर्शियल डेवलपमेंट के लिए 60 साल जबकि रेसिडेंसियल डेवलपमेंट के लिए 99 साल की लीज पर दिया जाएगा. इसका निर्माण 1887 में हुआ था. उस समय इसे विक्टोरिया टर्मिनस के नाम से जाना जाता था. 1887 में इसकर लागत 16.13 लाख रुपये आई थी. अब तक चार बार इसका नाम बदल चुका है. जब भारत में रेल का संचालन शुरू हुआ था तब इसका नाम बोरीबंदर स्टेशन था. 1887 में इसका नामविक्टोरिया टर्मिनस हो गया. 1996 में नाम बदलकर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस हो गया. इसके बाद यह भी बदलकर छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस हो गया. 2008 में यहीं पर आतंकी हमला हुआ था.

Postmortem रिपोर्ट: मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस रेलवे स्टेशन की प्री बिड मीटिंग में अडानी ग्रुप समेत 43 कंपनियों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया है. प्रोजेक्ट मिलने वाली कंपनी रेलवे स्टेशन के रिडेवलपमेंट का कार्य करेगी. यह पीपीपी मॉडल के तहत होगा. अभी किसी भी कंपनी को यह प्रोजेक्ट नहीं मिला है इसलिए यह कहना गलत होगा कि अडानी ग्रुप रेलवे स्टेशन को खरीद रहा है. हो कसता है कि यह बिड किसी और कंपनी की निकल जाए.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : भ्रामक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Fact Check: क्या बीमार मां का इलाज कराने आए फौजी लक्ष्मण को पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा? जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर दो वीडियो और कुछ फोटो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें एक में वीडियो में टाइटल Justice for...

Fact Check: इस फोटो में दिख रही बुजुर्ग महिला Akshay Kumar की मां नही हैं, जानिए कौन हैं ये

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का 8 सितंबर की सुबह निधन हो गया. वह मुंबई स्थित हीरानंदानी अस्पताल...

Recent Comments

vibhash