Home Viral सच्चाई #FactCheck IPS विनय तिवारी के CBI में जाने का दावा है झूठा,...

#FactCheck IPS विनय तिवारी के CBI में जाने का दावा है झूठा, इस फेक खबर को मत फैलाएं

सोशल मीडिया पर कुछ मैसेज तेजी से वायरल हो रहे हैं. इनमें दावा किया गया है कि आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी का सीबीआई में ट्रांसफर कर दिया गया है.

आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी आज किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं. पटना के नगर पूर्वी के एसपी विनय तिवारी इस समय मीडिया की सुर्खियों की छाए हुए हैं. ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ मैसेज फैल रहे हैं. इनमें दावा किया गया है कि आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को सीबीआई में भेज दिया गया है. सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच के लिए ऐसा किया गया है. यह सब गृहमंत्री अमित शाह के इशारे पर हुआ है. इतना ही नहीं कुछ यूट्यूब चैनलों पर यह बाकायदा बिग ब्रेकिंग तक चल गई और एक लाख से ज्यादा लोग इसे देख भी चुके हैं.

Vipin Gupta नाम से बने फेसबुक अकाउंट से 9 अगस्त को आईपीएस विनय तिवारी की फोटो पोस्ट की गई है. साथ में मैसेज लिखा है,
अमित शाह जी का नया धमाका…
बिहार के जिन IPS अफसर श्री विनय तिवारी जी को महाराष्ट्र सरकार ने कोरेंटाइन किया गया था, उन्हें डेप्युटेशन पर CBI में भेजा जा रहा है।

#Warriors4SSR

#अमित #शाह #जी का नया #धमाका …बिहार के जिन IPS #अफसर श्री #विनय #तिवारी जी को #महाराष्ट्र #सरकार ने #कोरेंटाइन किया गया था, उन्हें #डेप्युटेशन पर CBI में #भेजा जा रहा है। ⚖#Warriors4SSR

Posted by Vipin Gupta on Sunday, August 9, 2020

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

Rajput Singh @RajputS85174591 ने भी 9 अगस्त को ट्वीट किया,

#MumbaiWalaPappu our real hero Arnab sir always supported shushant sir case #ArnabGoswami.

इसके साथ ही में उन्होंने एक ग्राफिक्स भी पोस्ट किया है. इस पर लिखा है,
अमित शाह का नया धमाका
बिहार के जिस आईपीएस विनय तिवारी को क्वारेंटाइन किया गया था, उन्हें डेप्यूटेशन पर सीबीआई में भेजा जा रहा है.
जय हो

पोस्ट देखने के लिए यहां और आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

Shudh Manoranjan नाम से बने यूट्यूब चैनल ने तो इसे बिग ब्रेकिंग करके भी चला दिया. चैनल ने टाइटल दिया,
Big Breaking : SP Vinay Tiwari को Amit Shah ने CBI में भेजा,Sushant Singh Rajput टीम में शामिल
एंकर ने न्यूज में अपने सोर्स के हवाले ये यह खबर दे दी कि विनय तिवारी का ट्रांसफर सीबीआई में कर दिया गया है. हालांकि, कन्फर्म नहीं है लेकिन चैनल के सूत्र पक्के हैं. वीडियो को 1 लाख 40 हजार से ज्यादा लोग देख भी चुके हैं.

एक और यूट्यूब चैनल Yash Talk ने भी इस खबर को बिग ब्रेकिंग करके चला दिया. Breaking news Patna IPS Vinay Tiwari join CBI Sushant Singh Rajput case investigation|Yash Talk| टाइटल से इस वीडियो को 9 अगस्त को अपलोड किया गया है. एंकर ने इसमें भी सूत्रों के हवाले से खबर कन्फर्म कर दी पर आधिकारिक बयान नहीं आने की बात कही.

इतनी पोस्ट और वीडियो देखकर The News Postmortem की टीम को शक हुआ क्योंकि इस तरह की कोई भी न्यूज अब तक समने नहीं आई थी. साथ ही आईपीएस विनय तिवारी अभी शुक्रवार रात को तो पटना पहुंचे हैं. हमने इसकी पड़ताल शुरू की. गूगल पर सर्च करने पर हमें इस तरह की कोई भी न्यूज नहीं मिली. हां, muzaffarpurnow वेबसाइट पर भी खबर मिली. उसमें भी लिखा है कि केंद्र सरकार विनय तिवारी को सीबीआई में भेज सकती है.

इसके अलावा किसी भी बड़े मीडिया हाउस की वेबसाइट पर हमें इस तरह की कोई भी खबर नहीं मिली. अमर उजाला में 8 अगस्त को छपी खबर के मुताबिक, क्वारेंटाइन से बाहर आने के बाद विनय तिवारी ने कहा है कि यह मामला अब सीबीआई के पास में हैं तो उनकी कोई भूमिका नहीं रह गई है. इस मामले में सीबीआई को जो भी जानकारी चाहिए होगी, वह उसे शेयर करेंगे.

Zee News के मुताबिक, विनय तिवारी 7 अगस्त की देर रात को पटना पहुंच गए थे. पुलिय महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय खुद उन्हें लेने के लिए पहुंचे थे. इस दौरान विनय तिवारी ने कहा कि बीएमसी अगर उनको क्वारेंटाइन नहीं करती तो जांच और आगे पहुंच जाती. कुछ और लोगों से पूछताछ कर सबूत जुटाए जा सकते थे.

livemint में 6 अगस्त को छपी खबर के मुताबिक, 6 अगस्त को सीबीआई ने सुशांत सिंह की मौत के मामले में 6 आरोपियों समेत अन्स लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. इसमें रिया चक्रवर्ती, इंद्रजीत चक्रवर्ती, संध्या चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती, सैमुअल ​मिरांडा, श्रुति मोदी और अन्य लोग शामिल हैं. केस की जांच के लिए बनी टीम एसपी नुपुर प्रसाद के अंडर में काम करेगी. गुजरात कैडर के सीनियर आईपीएस डीआईजी गगनदीप गंभीर और ज्वाइंट डायरेक्टर मनोज शशिधर इस पर नजर रखेंगे.

livehindustan के मुताबिक, पटना एसआईटी की टीम सीबीआई को 40 पेज की रिपोर्ट सौंप चुकी है. इनमें 10 से ज्यादा राजदारों के बयान हैं. इस मामले में सीबीआई सबसे पहले सुशांत सिंह राजपूत के पिता का बयान लेगी. वहीं, सबकी निगाहें 11 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट पर भी लगी हुई हैं. एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ने सीबीआई जांच रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की हुई है.

हमें आईपीएस विनय तिवारी Vinay Om Tiwari, IPS @VinayTiwari_IPS के नाम से बने ट्विटर अकाउंट भी मिला. इससे 9 अगस्त को ट्ववीट किया गया,
IPS Vinay Tiwari Will again Visit Mumbai, but this time not as a Patna police officer but as a CBI officer to investigate Sushant death case.
I hope this time Mumbai police will be quarantined..
मतलब
आईपीएस विनय तिवारी फिर से मुंबई जाएंगे लेकिन इस बार पटना पुलिस अधिकारी की हैसियत से नहीं बल्कि सीबीआई अधिकारी की तरह सुशांत सिंह मामले की जांच करने. उम्मीद है कि इस बार मुंबई पुलिस क्वारेंटाइन होगी.
इसकी प्रोफाइल में लिखा है, IPS VinayTiwari Fan club

https://twitter.com/VinayTiwari_IPS/status/1292465567207575558

इसके बाद हमें विनय तिवारी का एक और ट्विटर अकाउंट मिला. Vinay Om Tiwari (IPS)/विनय ॐ तिवारी @IPSVinayTiwari से 10 अगस्त को ट्वीट कर ट्विटर से IPS @VinayTiwari_IPS के अकाउंट को बंद करने को कहा गया. इसमें लिखा गया,
Dear @TwitterIndia @verified consider this request on top priority as this account tweeting is fake and impersonating me. It can lead to fake & false information spread. please report this fake account.
नीचे दी फोटो और link fake account की हैं.

Vinay Om Tiwari (IPS)/विनय ॐ तिवारी @IPSVinayTiwari के आकउंट से ही 10 अगस्त को ट्वीट किया गया,
कुछ खबरें कल से प्रसारित हो रहीं हैं।
वो पूर्णतः गलत, भ्रामक और अफवाह हैं।
कृपया उन पर ध्यान ना दें।

हमने बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे का ट्विटर हैंडल भी चे​क किया लेकिन वहां भी इस तरह का कोई भी जिक्र नहीं मिला. 7 अगस्त को उन्होंने ट्वीट किया था,
IPS विनय तिवारी से बात हुयी.परेशान थे.आज 7 August को रात्रि 11.30 बजे वे मुंबई से हैदराबाद होते हुए पटना पहुँचेंगे.हम सब उनका अनुभव जानने सुनने के लिए इंतज़ार कर रहे हैं.

सीबीआई की वेबसाइट पर भी हमें इस तरह की कोई जानकारी नहीं मिली. गृहमंत्री कार्यालय, HMO India @HMOIndia के ट्विटर हैंडल पर भी हमें इस तरह की कोई जानकारी नहीं मिली. अगस ऐसी कोई खबर होती तो कोई न कोई बड़ा मीडिया हाउस तो इसे जरूर कवर करता लेकिन हमें इस तरह की कोई भी पुख्ता जानकारी नहीं मिली जिससे यह कहा जा सके कि यह खबर सही है.

Postmortem रिपोर्ट: आईपीएस विनय तिवारी के सीबीआई टीम का हिस्सा बनने के कयास लगाए जा रहे हैं. कुछ लोग इसे कन्फर्म भी कर रहे हैं. हमारी पड़ताल में इस तरह की कोई भी बात सामने नहीं आई है. यह खबर पूरी तरह फेक है. कृपया इसे शेयर मत करें.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash