Home History हकीकत #FactCheck मुस्लिम नहीं थे फिरोज गांधी, भाजपा नेता ​कपिल मिश्रा ने किया...

#FactCheck मुस्लिम नहीं थे फिरोज गांधी, भाजपा नेता ​कपिल मिश्रा ने किया फर्जी ट्वीट

क्या पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पति और राजीव व संजय गांधी के पिता फिरोज गांधी मुस्लिम थे? क्या उनका असली नाम फिरोज खान था? भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर ऐसा दावा किया है.

पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पति और राजीव व संजय गांधी के पिता फिरोज गांधी की 8 सिंतबर को पुण्यतिथि थी. इस अवसर पर कांग्रेसियों ने उनको याद करते श्रद्धांजलि दी. इस बीच भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने भी एक फोटो ट्वीट की और दावा किया कि वह फिरोज गांधी की कब्र है. साथ ही उन्होंने दावा किया कि फिरोज गांधी का नाम फिरोज खान था.

Feroze Jehangir Gandhi Grave Pic
Source: Google

Kapil Mishra @KapilMishra_IND ने 8 सितंबर को एक फोटो ट्वीट की. साथ में उन्होंने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को टैग करते हुए लिखा,
आज इंदिरा गांधी के पति, राजीव गांधी के पिता, सोनिया के ससुर, राहुल प्रियंका के दादा
फिरोज़ खान की पुण्यतिथि है
उनकी कब्र पर फूल चढ़ाने नहीं जाओगे?

Kapil Mishra Tweet On Firoze Gandhi

पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें.

भाजपा नेता कपिल मिश्रा के अलावा कई लोग इंदिरा गांधी के पति फिरोज गांधी को मु​स्लिम बताकर प्रचारित करते हैं. गूगल पर सर्च करने पर हमें कई ब्लॉग या वेबसाइट भी मिलीं, जिनमें फिरोज गांधी का असल नाम फिरोज खान बताया गया है. इसमें ​बताया गया कि फिरोज और इंदिरा गांधी ने एक मस्जिद में निकाह किया था और इंदिरा गांधी ने अपना धर्म बदल लिया था. इस तरह के कई लेख हमें नेट पर मिल जाएंगे. The News Postmortem ने इसकी सच्चाई जानने के लिए गूगल पर इसे खंगाला.

Feroze and Indira Gandhi Pic
Source: BBC

Wikipedia के मुताबिक, मुंबई के एक पारसी परिवार में फिरोज का जन्म हुआ था. उनके पिता का नाम जहांगीर फरदून और मां का नाम रतिमाई था. बम्बई के नौरोजी नाटकवाला भवन में उनका परिवार रहता था. इंजीनियर जहांगीर को प्रमोट करके वारंट इंजीनियर बना दिया गया था. पांच भाई—बहनों में फिरोज सबसे छोटे थे. उनके दो भाई और दो बहनें थे. वे मूल रूप से गुजरात के भरूच के रहने वाले थे. उनका पैतृक घर कोटपारीवाड़ में है. 1920 के आसपास पिता की मौत के बाद वह अपनी मां के साथ इलाहाबाद में मौसी शिरिन कमिसारीट के पास चले गए थे.

Feroze and indira gandhi pic
Source: Google

Jagran के अनुसार, फिरोज गांधी लोकसभा के सदस्य भी रहे थे. साथ ही में उन्होंने पत्रकारिता भी की थी. फिरोज और इंदिरा की मुलाकात 1930 में हुई थी. उस समय भारत की आजादी के लिए लड़ाई चल रही थी. इंदिरा गांधी की मां कमला नेहरू एक कॉलेज के सामने धरना दे रही थीं. इस बीच वह बेहोश हो गईं. यह देखकर फिरोज उनको लेकर अस्पताल गए. उन्होंने कमला नेहरू की काफी देखभाल की थी. हालचाल जानने के लिए फिरोज कमला नेहरू के घर भी जाते थे. इस दौरान इंदिरा और फिरोज एक—दूसरे के नजदीक आ गए. जवाहर लाल नेहरू इस शादी के खिलाफ थे. वह इंदिरा की शादी दूसरे धर्म में कराने के खिलाफ थे. महात्मा गांधी के हस्तक्षेप पर 1942 में इंदिरा और फिरोज की शादी हुई थी. शादी के बाद महात्मा गांधी ने अपना सरनेम भी फिरोज को दिया. आजादी की लड़ाई में दोनों साथ में जेल भी गए थे.

Feroze and Indira Gandhi marriage pic.
Feroze and Indira Gandhi marriage pic. Source: Jagran

BBC के अनुसार, 8 सितंबर की सुबह फिरोज गांधी ने अंतिम सांस ली थी. अगले दिन निगम बोध घाट पर राजीव गांधी ने फिरोज को मुखाग्नि दी थी. उस समय राजीव की उम्र 16 साल थी. उनका अंतिम संस्कार हिंदू रीति—रिवाज से हुआ था. फिरोज गांधी ने अपने दोस्तों से इच्छा जाहिर की थी कि उनका अंतिम संस्कार हिंदू रीति—रिवाज से हो. उनको पारसी तरीका पसंद नहीं था. पारसी रीति रिवाज में शव को चीलों को खाने को दे दिया जाता है. दो दिन के बाद ट्रेन से अस्थिकलश को इलाहाबाद ले जाया गया. इस हिस्सा संगम में प्रवाहित किया गया जबकि दूसरा पारसी कब्रगाह में दफनाया गया था.

Feroze and Indira Gandhi marriage rare pic.
Feroze and Indira Gandhi marriage rare pic. Source: BBC

Vishwas News के अनुसार, पहले भी कई पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं, जिनमें फिरोज गांधी को फिरोज खान बताते हुए मुस्लिम करार दिया गया. जवाहर लाल नेहरू ने एक चिट्ठी में शादी में आ रही दिक्कतों का जिक्र किया था. 16 मार्च 1942 को उन्होंने यह पत्र लक्ष्मी धर का लिखा था. वह चाहते थे कि शादी के बाद उनकी बेटी इंदिरा धर्म न बदले और वह हिंदू ही रहे जबकि दूल्हा पारसी रहे.

Jawahar Lal Nehru Letter about indira and firoze gandhi marriage
Source: Vishwas News

Postmortem रिपोर्ट: फिरोज गांधी पारसी थे ने कि मुस्लिम. उनको गांधी सरनेम महातमा गांधी ने उनकी शादी के बाद दिया था. ​कपिल मिश्रा द्वारा किया गया ट्वीट पूरी तरह से झूठा है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Fact Check: निर्दलीय चुनाव लड़े थे BJP नेता D Karthik, केवल एक वोट मिला, जानिए, उनके परिजनों ने क्यों नहीं दिया वोट

सोशल मीडिया पर तमिलनाडु निकाय चुनाव छाया हुआ है. यूजर्स जमकर भाजपा को ताने दे रहे हैं. दावा किया जा रहा है...

Fact Check: रिकॉर्ड वैक्सीनेशन की खुशी में नहीं दिया जा रहा Jio, Airtel या Vi यूजर्स को 3 महीने का फ्री रिचार्ज

त्यौहारों के मौसम चल रहा है. कोरोना की तीसरी लहर की आशंका भी बनी हुई है. ऐसे में देश में तेजी से...

Fact Check: Tata Group नहीं दे रहा फ्री कार, लिंक पर क्लिक करते ही आपका फोन हैक कर लेगा हैकर

टाटा ग्रुप आज खबरों में छाया हुआ है. सुबह से मीडिया में खबरें तैर रही हैं कि एयर इंडिया कंपनी वापस टाटा...

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Recent Comments

vibhash