Fact Check:संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलायम सिंह यादव की मुलाकात का सच

0
8230

Fact Check(The News Postmortem ) : सोशल मीडिया पर इन दिनों एक तस्वीर वायरल की जा रही है, जिसमें आर एस एस प्रमुख मोहन भागवत और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव, एक ही सोफे पर साथ-साथ बैठे दिख रहे हैं। जिस पर सियासत गरमा रही है।जब द पोस्टमार्टम न्यूज़ ने इसकी पड़ताल की तो पता चला कि तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

वायरल तस्वीर पर लोगों की प्रतिक्रियाएं :
उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शलभ मनी त्रिपाठी नेे ट्विटर पर तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा –
“अंततः सबको प्रभु राम की शरण में ही आना है, जय जय श्री राम 🙏”

वहीं एआईएमआईएम ओवैसी नामक पैरोडी फेसबुक अकाउंट से एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा –
अखिलेश यादव के बाबा “मुलायम सिंह यादव” की मुलाकात आर एस एस चीफ़ “मोहन भागवत” से..पता लगाओ दया”कुछ तो गड़बड़ है”

HW News English न्यूज़ चैनल ने 21 दिसम्बर को ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा – 


Sign of changing times?
SP leader Mulayam Singh Yadav and RSS Chief Mohan Bhagwat in one frame.
What would you caption this???

No abuses and derogatory remarks!
#MulayamSinghYadav #Samajwadiparty #RSS #MohanBhagwat”
पड़ताल :


द न्यूज़ पोस्टमार्टम ने इस तस्वीर का सच जानने के लिए तकनीकी टूल्स का इस्तेमाल किया।
हमें सबसे पहले केन्द्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल का ट्वीट दिखा, जहां उन्होंने तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा-


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के परम पूज्य सरसंघचालक मा. @DrMohanBhagwat जी से आज जन्मदिवस के अवसर पर आत्मीय भेंट करके आशीर्वाद लिया।आपका स्नेह, सहयोग, मार्गदर्शन, सदैव कर्तव्य पथ पर चलते हुए माँ भारती की निरंतर सेवा करने की प्रेरणा देता है।

जिस पर यूपी कांग्रेस ने ट्विट करते हुए लिखा –
नई सपा” में ‘स’ का मतलब ‘संघवाद’ है?

जिस पर समाजवादी पार्टी ने ट्वीट करते हुए कहा –
राजनीतिक शिष्टाचार भूल चुकी है कांग्रेस!जिस कार्यक्रम की तस्वीर लगा रही कांग्रेस उसी कार्यक्रम में कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी के नेताओं ने भी लिया नेताजी का आशीर्वाद।इस पर क्या कहेगी कांग्रेस ? @INCUttarPradesh

वहीं यूपी बीजेपी ने भी इसको लेकर ट्वीट किया और कहा –
तस्वीर बहुत कुछ बोलती है 

यूपी बीजेपी के इस ट्वीट को कोट करते हुए समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया है –

तस्वीर कुछ बोलती है और ये राज खोलती है कि कोई बताने आये थे… अनुपयोगी जानेवाले हैं और साइकिलवाले आनेवाले हैं।

बाइसमें बाइसिकल @BJP4UP

पोस्टमार्टम द न्यूज पोस्टमार्टम की पड़ताल में वायरल दावा भ्रामक साबित हुआ। दरअसल यह तस्वीर वेंकैया नायडू की पोती की शादी की है। जहां मुलायम सिंह यादव और संघ प्रमुख मोहन भागवत संयोग से एक ही समय पर पहुंचे थे तो उम्र और वरिष्ठता का सम्मान करते हुए दोनो को विवाह समारोह में सबसे आगे पड़े सोफे पर साथ मेें बिठा दिया गया था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here