Home Viral सच्चाई Fact Check: UPPCS 2018 में हापुड़ के कोचिंग संस्थान से सेलेक्टर हुए...

Fact Check: UPPCS 2018 में हापुड़ के कोचिंग संस्थान से सेलेक्टर हुए 67 स्टूडेंट्स, घोटाले का आरोप झूठा

सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल कर आरोप लगाया जा रहा है कि कोचिंग संस्थान उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रभात कुमार की बुआ के लड़के का है.

क्या UPPCS 2018 जिस कोचिंग संस्थान से 67 स्टूडेंट्स का सेलेक्शन हुआ है, उसका डायरेक्टर उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष प्रभात कुमार की बुआ का लड़का है? कुछ इस तरह के मैसजे के साथ फेसबुक पर पोस्ट वायरल हो रही हैं. इसमें यूजस्रकुछ स्क्रीनशॉट्स को कोलाज बनाकर यूपी सरकार पर घोटाले का आरोप लगा रहे हैं.

Subhash Yadav ने 18 सितंबर को फेसबुक पर कोलाज पोस्ट करते हुए लिखा,
BAMPAR DHAMAKA. YadAV sewa aayog ka karnama, AKHILESH YADAV isteefa do., . chor hai bhai chor hai ………………..yogi baba…………..
कोलाज में एक स्क्रीनशॉट में लिखा है,
हापुड़ के जिस कोचिंग संस्थान के 67 बच्चों का चयन UPPCS 2018 में हुआ है, उसका डायरेक्टर रिंकू राही उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रभात कुमार की बुआ का लड़का है. क्या ये खबर सही है… तो उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार का बड़ा घोटाला है…
दूसरा स्क्रीनशॉट न्यूजपेपर की कटिंग है. इसमें लिखा है कि हापुड़ के आईएएस कोचिंग सेंटर से 67 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है. निजामपुर स्थित कोचिंग सेंटर के प्रभारी का नाम रिंकू राही है.
एक और स्क्रीनशॉट में भी कोचिंग सेंटर को प्रभात कुमार के भाई का बताया गया.

UPPCS 2018 main result

पोस्ट देखने के​ लिए यहां और आकाईव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

Sanjeev Kumar ने भी 18 सितंबर को यहीं कोलाज पोस्ट किया. इसके जिए उन्होंने भी UPPCS 2018 के चयन पर सवाल उठाए. एक स्क्रीनशॉट न्यूज चैनल का है.

UPPCS 2018 main result 2018

पोस्ट देखने के लिए यहां और आकाईव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

The News Postmortem के सामने भी ऐसी पोस्ट आई तो हमने इसकी पड़ताल शुरू की. गूगल पर छानबीन के दौरान हमें दैनिक जागरण की खबर का लिंक मिला. 11 सितंबर को छपी खबर के मुताबिक, पीसीएस में निजामपुर स्थित आईएएस—पीसीएस सेंटर से 67 स्टूडेंट्स का सेलेक्शन हुआ है. यह सेंटर सरकार द्वारा संचालित है. इस सेंटर से 160 अभ्यर्थियों ने एग्जाम दिया था. सेंटर इंचार्ज का नाम रिकू सिंह राही है. यह कोचिंग सेंटर बसपा सरकार में बनाया गया था.

इसके बाद हमें अमर उजाला में 21 सितंबर को छपी खबर मिली. इसके मुताबिक, यह मैसेज वायरल होने के बाद उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के डिप्टी सेक्रेट्री पुष्कर श्रीवास्तव ने एसपी हापुड़ को पत्र लिखा है. उन्होंने आयोग और प्रभात कुमार को बदनाम करने वाले आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा है. उन्होंने इसे अफवाह बताया है. लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष रिटायर आईएएस डॉ. प्रभात ​कुमार हैं. यह अफवाह फैलाकर उनकी इमेज को खराब किया जा रहा है. लेटर में साफ लिखा है कि डॉ. प्रभात कुमार की बुआ का कोई लड़का ही नहीं है. एसपी हापुड़ संजीव सुमन ने लेटर मिलने की पुष्टि की है. इसकी जांच के लिए विशेष टीम को लगाया गया है. जांच के बाद दोषी के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा.

UPPCS 2018 main result

Postmortem रिपोर्ट: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रभात कुमार की बुआ का कोई लड़का ही नहीं है तो यह आरोप गलत है कि उनके भाई की कोचिंग संस्थान से पीसीएस में 67 स्टूडेंट्स का चयन हुआ है. सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाकर आयोग और डॉ. प्रभात कुमार को बदनाम मत करें.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash