Home COVID-19 Truth Fact Check: जानिए, Covid-19 के लक्षण दिखने के कितने दिन बाद बदल...

Fact Check: जानिए, Covid-19 के लक्षण दिखने के कितने दिन बाद बदल देना चाहिए टूथब्रश और टंग क्लीनर

सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रही है, जिसमें लेडी हार्डिंग मेडिकल काॅलेज डेंटल सर्जरी के हेड आॅफ डिपार्टमेंट डाॅ. प्रवेश मेहरा का संदेश है. उनके अनुसार, अगर आप या परिवार का कोई सदस्य और दोस्त कोरोना को मात दे चुका हो, तो निश्चित करिए कि टूथब्रश और टंग क्लीनर बदल दिया जाए. ये वायरस के वाहक हो सकते हैं.

कोरोना अब तक भारत में 2 करोड़ 55 लाख लोगों को अपना शिकार बना चुका है. इनमें से 2 करोड़ 20 लाख लोग स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 2 लाख 83 हजार लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप भले ही थोड़ा कम होने लगा है लेकिन अब भी पिछले 24 घंटे की बात करें तो 2,76,110 केस सामने आए हैं जबकि 3,874 लोगों की जान इस वायरस ने ले ली है.

सोशल मीडिया पर कोविड को लेकर कई पोस्ट चल रही हैं. इनमें से कई फर्जी भी हैं. The News Postmortem को भी व्हाट्सऐप पर एक पोस्ट मिली. यह इंग्लिश में लिखी हुई है. इसके मुताबिक यह टिप डेंटिस्ट की तरफ से दी गई है. लेडी हार्डिंग मेडिकल काॅलेज डेंटल सर्जरी के हेड आॅफ डिपार्टमेंट डाॅ. प्रवेश मेहरा ने यह संदेश दिया है. उनके अनुसार, अगर आप या परिवार का कोई सदस्य और दोस्त कोरोना को मात दे चुका हो, तो निश्चित करिए कि टूथब्रश और टंग क्लीनर बदल दिया जाए. ये वायरस के वाहक हो सकते हैं. आखिरी में लिखा है कि इससे कोई नुकसान नहीं है.

toothbrush change after covid hindi news

हमने सबसे पहले गूगल पर लेडी हार्डिंग काॅलेज के डाॅ. प्रवेश मेहरा के इस संदेश को तलाशा तो Business Standard का लिंक मिला. 7 मई को पब्लिश इस आर्टिकल के नुसार, कोविड का टीका लगवाने के बाद भी यह मत समझिए कि यह 100 फीसदी सुरक्षित है. टीका लगने या कोरोना को मात देने के बाद भी यह वायरस दोबारा हमला कर सकता है. इस वजह से बचाव करना बहुत जरूरी है. लेडी हार्डिंग मेडिकल काॅलेज के डाॅक्टर प्रवेश मेहरा का कहना है कि कोविड-19 से उबरने के बाद टूथब्रश व टंग क्लीनर बलना जरूरी है. ये वायरस फैलने में सहायक हो सकते हैं.

toothbrush change after covid hindi news

आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशलिटी हाॅस्पिटल की डाॅ. भूमिका मदान ने भी डाॅ. प्रवेश मेहरा के सुझाव से इत्तेफाक जताया. उनका कहना है कि मौसमी बीमारियों जैसे फ्लू, जुकाम और खांसी के बाद भी टूथब्रश और टंग क्लीनर बदल लेना चाहिए. कोरोना के लक्षण दिखाई देने के 20 दिन के बाद टूथब्रश और टंग क्लीनर बदल देना चरहिए. बैक्टिरिया या वायरस टूथब्रश या टंग क्लीनर की सतह पर जम जाते हैं, जो समय के साथ आप पर हमला कर सकते हैं. इससे बचने के लिए बिटाडीन गार्गल या गरारे और माउथवाॅश करना चाहिए. अगर माउथवाॅश नहीं कर सकते तो नमक मिले हुए गुनगुने पानी से गरारे करने चाहिए. इसके साथ ही दिन में दो बार टूथब्रश करना चाहिए.

आर्टिकल के अनुसार, कोविड-19 ड्राॅपलेट्स के जरिए फैलता है मतलब जब कोई संक्रमित शख्स खांसता, छीकता या बोलता है तो वायरस कुछ समय तक हवा में मौजूद रहते हैं, जो दूसरों पर हमला कर सकते हैं. यह वायरस टूथब्रश या टंग क्लीनर से भी फैलता है क्योंकि संक्रमित शख्स के इस्तेमाल से इसमें वायरस हो जाते हैं. इनके लगातार इस्तेमाल से यह दोबारा संक्रमण कर सकते है ंया घर के दूसरे लोगों को संक्रमित कर सकते हैं. अगर घर में किसी को संक्रमण हुआ है तो यह सलाह दी जाती है कि उसके द्वारा इस्तेमाल किए गए टॅयलेट्री आइटम्स को बदल देना चाहिए.

Postmortem रिपोर्टः सोशल मीडिया वायरल संदेश सही है. लेडी हार्डिंग मेडिकल काॅलेज के डाॅ. प्रवेश मेहरा ने कोरोना से उबरने के बाद टूथब्रश और टंग क्लीनर बदलने की सलाह दी है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : सच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash