Home Political सच Fact Check: क्या आंदोलन में शामिल हुई हैं राजकुमारी बंसल उर्फ 'भाभी',...

Fact Check: क्या आंदोलन में शामिल हुई हैं राजकुमारी बंसल उर्फ ‘भाभी’, क्या यह कांग्रेस नेत्री भी हैं, जानिए पूरा सच

सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट में दावा किया गया है कि हाथरस में पीड़िता की भाभी बनकर रही महिला किसान आंदोलन में सक्रिय है और उनका कांग्रेस से भी कनेक्शन है.

नए कृषि कानूनों के खिलाफ हल्ला बोल चुके किसान पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने बुराड़ी में आंदोलन करने का केंद्र सरकार का प्रस्ताव भी ठुकरा दिया है. बॉर्डर पर किसान डटे हुए हैं. वहीं, जहां एक तरफ एमएसपी को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं, दूसरी तरफ भाजपा और विपक्ष के नेता सोशल मीडिया पर पोस्ट करके एक—दूसरे पर घेरने में लगे हुए हैं. इस दौरान कई फर्जी पोस्ट और वीडियो से भी जनता को गुमराह किया जा रहा है. The News Postmortem ऐसी ही कुछ खबरों का खुलासा भी कर चुका है.

यह भी पढ़ें: Fact Check: राहुल गांधी ने पोस्ट की किसान पर डंडा चला रहे जवान की तस्वीर, भाजपा नेता का सच भी निकला झूठ

यह भी पढ़ें: Fact Check: क्या किसान आंदोलन में शामिल हुई हैं शाहीन बाग वाली दादी, जानिए क्या है सच
अब एक और पोस्ट हमें भेजी गई है. इसमें दावा किया गया है कि हाथरस में पीड़िता की भाभी बनकर रही महिला किसान आंदोलन में सक्रिय है और उनका कांग्रेस से भी कनेक्शन है. धनिष्ठा वैधराज {बेबाक, बेलगाम} @OfficeOfSid ने 29 नवंबर को एक कोलाज ट्वीट किया है. इसमें ‘भाभी’ उर्फ डॉ. राजकुमारी बंसल, एक कांग्रेस नेत्री और किसान आंदोलनकारियों के साथ खड़ी एक महिला की फोटो है. साथ में लिखा है,
नेता जी सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज जबलपुर की डॉ. राजकुमारी बंसल उर्फ फर्जी भाभी की फेसबुक id पर भी सपोर्ट विथ फार्मर्स का DP लगा हुआ है. ये संयोग तो नहीं प्रयोग ही है कि एक डॉक्टर, फर्जी भाभी के बाद किसान भी बन गई…

हमें জয়দীপ @diil_se_indian अकांडट पर भी आंदोलनकारियों के साथ खड़ी ​महिला की फोटो मिली. इसके साथ में लिखा है,
हाथरस वाली भाभी किसान आंदोलन में
अरे कुछ तो शर्म करो @INCIndia

इस तरह की पोस्ट को शेफाली वैद्य ने भी रिट्वीट करके पूछा है,
Is this true?

हाथरस में नक्सली भाभी के नाम से बदनाम कि गई डॉ. राजकुमारी बंसल की खबर का फैक्ट चेक हम पहले भी कर चुके हैं. उस समय भी दावा किया गया था कि वह कांग्रेस से ताल्लुक रखती हैं. इस संबंध में कांग्रेस की प्रेस क्रांफ्रेंस की एक फोटो भी वायरल की गई थी. पड़ताल में हमें पता चला था कि हाथरस में पीड़िता के घर पहुंची महिला का नाम डॉ. राजकुमारी बंसल है. जबलपुर की रहने वाली राजकुमारी बंसल सुभाष चंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर हैं. उन्होंने खुद का नक्सली कनेक्शन साबित करने की चुनौती भी दी थी. उनका फेसबुक पेज खंगालने पर हमें कई अखबारों की कटिंग भी मिलीं. इनमें दैनिक भास्कर की ​कटिंग भी मिली, जिस पर लिखा था, म​हिला डॉक्टर को अपराधी बनाने की रची जा रही साजिश. इसको लेकर उन्होंने कई लोगों पर एफआईआर दर्ज करने की भी मांग की थी.

Hathras Naxali Bhabhi Fact Check
Dr. Rajkumari Bansal Hathras News

इसके अलावा उन पर लगे नक्सली होने के आरोपों से भी उनको क्लीनचिट मिल गई थी. इसका कोई भी प्रमाण नहीं मिला था. इस बारे मे मेडिकल कॉलेज के डीन प्रो. प्रदीप कुमार ने भी कहा था कि राजकुमारी बंसल के खिलाफ कोई उनको कोई शिकायत नहीं मिली है और न ही उन पर कोई कार्रवाई की गई है. डॉ. राजकुमारी बंसल एमबीबीएस—एमडी फॉरेंसिक विशेषज्ञ हैं.

Rajkumari Bansal Hathras News

कोलाज में एक कांग्रेस नेत्री की फोटो भी है. उनका नाम प्रतिभा बोरकर है और वह गोवा कांग्रेस में पदाधिकारी हैं. उनकी फेसबुक प्रोफाइल पर गोवा कांग्रेस समिति की फोटो लगी हुई है. इनका डॉ. राजकुमारी बंसल से कोई संबंध नहीं है.

Pratibha Borkar Goa Congress

अब हम बात करते हैं डॉ. राजकुमारी बंसल और आंदोलन में शामिल महिला की. फोटो को रिवर्स इमेज से सर्च करने से हमें उसकी कोई जानकारी नहीं मिली लेकिन डॉ. राजकुमारी बंसल और आंदोलन​कारियों के साथ खड़ी महिला की तस्वीर एक महिला की नहीं लग रही है. साथ ही यह फोटो इसी किसान आंदोलन की है, यह भी कंफर्म नहीं है क्योंकि गूगल पर काफी तलाशने के बाद भी हमें किसान आंदोलन में यह फोटो नहीं मिली. इस बारे में हमने डॉ. राजकुमारी बंसल से बात करनी चाही तो उन्होंने इस आंदोलन में शामिल होने से इंकार किया है..

Kisan Andolan Viral Image

Postmortem रिपोर्ट: डॉ. राजकुमारी बंसल इंडियन अंंबेडकर डॉक्टर फेडरेशन से जुड़ी हैं. जबकि कांग्रेस नेत्री का नाम प्रतिभा बोरकर है. गोल घेरे में की दर्शाई गई महिला के बारे में कुछ पता नहीं चला है लेकिन वह इस आंदोलन की फोटो है, यह भी कंफर्म नहीं है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash