Home COVID-19 Truth Fact Check: Covid-19 से मौत होने पर इस योजना के तहत परिजन...

Fact Check: Covid-19 से मौत होने पर इस योजना के तहत परिजन को मिलेंगे 2 लाख रुपये

वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि कोविड—19 से मरने वाले मरीजों के परिजनों को केंद्र सरकार की स्कीम के तहत दो लाख रुपये मिलेंगे.

क्या कोविड—19 से मरने वाले मरीजों के परिजनों को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) के तहत दो लाख रुपये मिलेंगे? यह मैसेज काफी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसे अब तक शायद व्हाट्सऐप या फेसबुक पर देख भी चुके होंगे जबकि कई लोग इसे फॉरवर्ड भी कर चुके होंगे.

Covid-19 Death News in Hindi

LIC BIMA Helpline @licbimahelp·Financial Planner नाम से बने फेसबुक पेज पर 23 सितंबर को यह पोस्ट की गई. इसके अनुसार, अगर किसी करीबी की मृत्यु कोविड-19 या अन्य किसी वजह से होती है तो वह बैंक से 1 अप्रैल से 31 मार्च तक की अकाउंट डिटेल या पासबुक की डिटेल पता करे. अगर खाते में 12 रुपये या 330 रुपये की एंट्री है तो उसे नोट कर लें. इसके बाद बैंक में जाएं और बीमे का दावा करें. इसके साथ में लोगों से यह भी अपील की गई कि अगर आपके ऐसा कोई मामला आता है तो तुरंत पीड़ित को जानकारी दें. 2015 में केंद्र सरकार ने बचत खाताधारकों को दो सस्ती बीमा योजनाएं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना उपलब्ध कराई थीं. कई लोगों ने इसका फॉर्म भरा होगा. इस मैसेज को लोगों तक फैलाएं ताकि पीड़ित को दो लाख रुपये मिल सके.

PMJJBY and PMSBY Scheme in hindi

पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें.

Krishna Prakash Raizada ने भी 25 सितंबर को ऐसा ही मैसेज पोस्ट किया. Prem Bisani ने भी 20 सितंबर को इस मैसेज के साथ मैसेज का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया. Tilak Raj Gupta ने भी इस मैसेज को पोस्ट किया है.

Love India News ने तो इसे और डिटेल में दिया है, उन्होंने लिखा है,
यदि किसी करीबी रिश्तेदार /मित्रमंडली में किसी की मृत्यु किसी कारण से कोविड 19 या किसी और वजह से हो गई है, तो उस मृत व्यक्ति के बैंक से एक खाता विवरण या पासबुक प्रविष्टि 01-04-2019/2020 से 31-03-2020/2021 के लिए पूछें.
रुपये 12/- या 330/- की प्रविष्टि देखकर, इसे चिह्नित करें, बैंक में जाएं और उस करीबी की मृत्यु उपरांत जिवन बीमा का दावा करें.
आप सभी से मेरा विनम्र निवेदन है कि अगर आपके आसपास ऐसे मामले होते हैं, तो तुरंत ऐसे पीड़ित परिवार को सूचित करें जिसने मृत्यु के बाद खाता बंद कर दिया हो, भले ही उस अवधि में प्रीमियम काटा गया हो.
वर्ष 2015 में, सरकार ने सभी बैंकों के बचत खाताधारकों को दो सस्ती बीमा योजनाएं प्रदान की थीं.
प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) 330/- रुपये में सालाना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) 12/- रुपये में सालाना, जिसमें खाताधारक की मृत्यु पश्चात 2 लाख रुपये का जीवन बीमा किया जाता है.
हममें से कई लोगों ने इस फॉर्म को भरा होगा.
प्रीमियम भी उनके खाते से डेबिट किया जाएगा 31/05 सबसे पहले, इस संदेश को गांव-गांव तक फैलाएं…
रुपये 2,00,000/- हमारे समाज के जरूरतमंद लोगों के लिए लिए बहुत बड़ी राशि है… यह तभी उपयोगी होगा यदि यह सूचना सभी को ज्ञात हो…

PMSBY and PMJJBY scheme in hindi

इस मैसेज को हिंदी और अंग्रेजी में व्हाट्सऐप पर भी सर्कुलेट किया गया है. इस बारे में PIB Fact Check @PIBFactCheck ने 25 सितंबर को ट्वीट किया,
Claim: Kins of those who died of COVID-19 can claim insurance under Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana (PMJJBY) and Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana (PMSBY)

#PIBFactCheck: PMSBY doesn’t cover COVID related deaths, while PMJJBY covers COVID deaths with certain conditions.

मतलब दावा किया जा रहा है कि कोविड—19 से मरने वाले मरीजों के परिजन Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana (PMJJBY) and Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana (PMSBY) के अंतर्गत क्लेक कर सकते हैं. जबकि PMSBY कोविड—19 से होने वाली मौतों को कवर नहीं करती है. हालांकि, PMJJBY में कोविड—19 से होने वाली मौतों को कुछ शर्तों के साथ कवर किया गया है.

PIB fact check tweet

पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें.

इस बारे में और जानकारी के लिए हमें Economic Times का लिंक मिला. इसके अनुसार, 9 मई 2015 को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना की शुरुआत हुई थी. इसके तहत अगर किसी भी वजह से बीमा कराने वाले शख्स की मौत हो जाती है तो नॉमिनी को 2 लाख रुपये मिलते हैं. मिनिमम 18 और अधिकतम 50 साल तक की उम्र के लोग इस योजना का लाभ ले सकते हैं इसका सालाना प्रीमि‍यम 330 रुपये है. हर साल इसको रिन्यू कराना पड़ता है. बीमा कवर की अवधि के दौरान मौत होने पर परिजन को दो लाख रुपये मिलते हैं. इस योजना के तहत ही कोविड—19 से मौत होने पर परिजन को दो लाख रुपये मिल सकते हैं.

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) की बात करें तो Financial Express के मुताबिक, इस स्कीम में दुर्घटना में मौत होने या अंगभंग होने पर दो लाख रुपये मिलते हैं. आंशिक तौर पर अपंग होने पर पीड़ित को 1 लाख रुपये मिलते हैं. इस योजना का लाभ 18 से 70 साल के लोग ले सकते हैं. इसका वार्षिक प्रीमियम 12 रुपये है. 70 साल की उम्र पूरी होने पर यह बीमा खत्म हो जाता है. इसमें कोविड—19 से होने वाली मौत शामिल नहीं है.

Postmortem रिपोर्ट: मैसेज में दावा किया जा रहा है कि कोविड—19 से होने वाली मौतों पर नॉमिनी को प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत दो लाख रुपये मिलेंगे. हकीकत में केवल प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना लेने वाले शख्स के परिजन को ही दो लाख रुपये मिल सकते हैं. प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत दुर्घटना से होने वाली मौत या अपंगता को कवर किया जाता है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : भ्रामक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash