Home Viral सच्चाई Fact Check: वीडियो में हेलमेट पहनने और धार्मिक सौहार्द बनाए रखने का...

Fact Check: वीडियो में हेलमेट पहनने और धार्मिक सौहार्द बनाए रखने का संदेश दे रहे हैं हेलमेट मैन, इसे गलत तरीके से पेश कर माहौल न बिगाड़ें

सोशल मीडिया पर 2.20 मिनट का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इसमें दावा किया गया कि कुछ मुस्लिमों को रास्ते में रोककर उनसे हेलमेट लगाने को कहा गया तो उन्होंने फोन करके 40-50 साथी बुला लिए. वे तलवार और बंदूकें लेकर आ गए. इसको लेकर यूजर्स ने पुलिस पर भी सवाल उठाए.

चुनाव नजदीक आते ही सोशल मीडिया पर फर्जी मैसेजों की बाढ़ सी आ जाती है. कुछ ऐसे मैसेज वायरल होते हैं, जिससे समाज में धर्म के नाम पर नफरत फैलती है. आजकल सोशल मीडिया पर 2.20 मिनट का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. इसमें दावा किया गया कि कुद मुस्लिमों को रास्ते में रोककर उनसे हेलमेट लगाने को कहा गया तो उन्होंने फोन करके 40-50 साथी बुला लिए. वे तलवार और बंदूकें लेकर आ गए. इसको लेकर यूजर्स ने पुलिस पर भी सवाल उठाए.

श्रीश त्रिपाठी ने 23 मार्च को इस वीडियो को पोस्ट किया. उन्होंने कहा,
सेलकुरिजम का झुनझुना बजाने वाले ये वीडियो अवश्य देखें.
बिना हेलमेट नमाजियों को रोका तो कैसे एक फोन पर पचासों शांतिदूत बन्दूक और तलवार लेकर आ गये.
क्या पुलिस किसी हिन्दू को बिना हेलमेट पकड़ती है तो बिना चालान किये जाने देती भले वो भी मंदिर जा रहा होता?
सच्चाई तो ये है कि इन शांतिदूतों के लिये न भारत का संविधान और न ही कानून कोई मायने रखता है? इन्हें तो शरिया से मतलब है?
इस मैसेज के साथ में यूजर ने दो वीडियो भी पोस्ट किए. इसमें हेलमेट लगाए हुए एक शख्स बाइकसवार दो मुस्लिम युवकों को रोकता है. उन्होंने हेलमेट नहीं लगाया होता है. वे कहते हैं कि वे नमाज पढ़ने जा रहे हैं. इस पर हेलमेट लगाने वाला शख्स उनको हलेमेट लगाने को कहता है. उसके साथ कुछ और लोग भी होते हैं. इसके बाद बाइकसवार फेान करके अपने कई साथी बुला लेते हैं. उनके हाथों में तलवारें और बंदूकें होती हैं. वे वहां पहुंचकर धार्मिक नारे लगाते हैं जबकि हेलमेट वाला शख्स और उसके साथी उनसे हेलमेट लगाने की विनती करते हैं.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

इसी तरह की पोस्ट राहुल आर्यन ने भी शेयर की है.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

फेसबुक पर भी साध्वी डाॅ. प्राची दीदी के फेसबुक पेज से इस वीडियो को पोस्ट करते हुए यह मैसेज लिखा गया है. इसके अलावा फेसबुक पर इस वीडियो को और भी कई यूजर्स ने शेयर किया है.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

muslims stopped for not wearing helmet go for namaz video viral

The News Postmortem ने इस वीडियो की पड़ताल के लिए INVid Tool का सहाा लिया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली. इसके बाद हमने गूगल पर ‘बिना हेलमेट नमाजियों को रोका तो कैसे एक फोन पर पचासों शांतिदूत बन्दूक और तलवार लेकर आ गये‘ कीवर्ड से इसे तलाशा तो अपरिचित जोन नाम की वेबसाइट पर इससे संबंधित खबर मिली. खबर के अनुसार, हेलमेट पहने शख्स का नाम हेलमेट मैन है. यूपी एक्सप्रेस में इस बारे में खबर भी छपी है.मामला बिहार के कैमूर जिले का है. नुआव प्रखंड दरौली मदरसे के पास हेलमेट मैन राघवेंद्र कुमार ने दो युवकों को रोका था. उन्होंने जब बाइक सवारों को हेलमेट पहनने की बात समझाई तो उन्होंने अपने साथियों को बुला लिया.

muslims stopped for not wearing helmet go for namaz video viral

हमें यूटूयब पर यूपी एक्सप्रेस का वीडियो भी मिला. पूरा वीडियो 11 मिनट 22 सेकंड का है. इसमें यह भी दिखाया गया है कि हेलमेट मैन के समझाने पर युवक मान जाते हैं और वे भारत माता की जय के नारे लगाते हैं. हेलमेट मैन उनको हेलमेट देकर इसकी उपयोगिता बताते हैं. बाद में सभी लोग हेलमेट लगाने को राजी होते हैं. मस्जिद के मौलाना भी वीडियो में लोगों से हेलमेट लगाने की अपील करते हैं. वह हेलमेट मैन की तारीफ भी करते हैं. साथ ही वह हिंदू-मुस्लिम एकता की दुआ करते हैं. इसको हेलमेट मैन के फेसबुक पेज पर भी शेयर किया गया है.

muslims stopped for not wearing helmet go for namaz video viral

हेलमेट मैन इंडिया के फेसबुक पेज पर हमें ALT News का लिंक भी मिला. इसके मुताबिक, हेलमेट मैन राघवेंद्र कुमार का कहना है कि इस वीडियो को शूट किया गया था. इसे हिंदू-मुस्लिमों के बीच में सौहार्द बनाए जाने के लिए बनाया गया है. साथ ही इसका उद्देश्य सड़क हादसों में लोगों की जान बचाना है. उन्होंने अपील की कि इस वीडियो को गलत तरीके से पेश न करें. इसे लोगों के बीच में जागरुकता फैलाने के लिए बनाया गया है.

नवभारत टाइम्स में छपी खबर के अनुसार, हेलमेट मैन राघवेंद्र कुमार बिहार के कैमूर जिले के बगाढ़ी गांव के रहने वाले हैं. उनके पिता राधेश्याम सैनी खेती करते थे. आर्थिक स्थिति खबरा होने की वजह से वह बनारस चले गए थे. 2009 में वह ग्रेजुएशन करने के लिए दिल्ली आ गए. ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर उनके दोस्त कृष्ण की सड़क हादसे में मौत हो गई थी. वह बिना हेलमेट बाइक चला रहा था. इसके बाद उन्होंने लोगों को फ्री हेलमेट बांटकर जागरुकता फैलानी शुरू की. अब वह हेलमेट के साथ 5 लाख रुपये का फ्री दुर्घटना बीमा भी दे रहे हैं. वह अभी तक 48000 से अधिक हेलमेट बांट चुके हैं. इसके लिए उन्होंने अपना घर और पत्नी के जेवर तक बेच दिए.

helmetman raghwendra kumar

Postmortem रिपोर्टः वीडियो को हेलमेट मैन राघवेंद्र कुमार ने लोगों को जागरूक करने और हिंदू-मुस्लिम सौहार्द बनाए रखने के लिए बनाया था, जिसे कुछ लोगों ने गलत तरीके से पेश करके धार्मिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की है. हेलमेट मैन की अपील को समझें और हेलमेट का प्रयोग करते हुए सौहार्द को बनाए रखें.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash