Home Viral सच्चाई Fact Check: Rajiv Gandhi Khel Ratna की जगह Param Vir Chakra की...

Fact Check: Rajiv Gandhi Khel Ratna की जगह Param Vir Chakra की फोटो लगाकर PM Modi को दिया धन्यवाद, जानिए दोनों में क्या है फर्क

भाजपा नेता ने एक फोटो ट्वीट की. इसमें प्रधानमंत्री मोदी को पुरस्कार का नाम बदलने पर बधाई दी गई. इसमें एक मेडल की भी फोटो लगी है. ट्वीट के बाद इसका स्क्रीनशॉट वायरल होने लगा. लोगों ने दावा किया कि फोटो में दिख रहा मेडल गैलेंट्री मेडल है मतलब बहादुरी का पदक. इसे परमवीर चक्र बताया गया.

ओलंपिक में भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीम ने इतिहास क्या रचा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजीव गांधी खेल रत्न का नाम ही बदल दिया. टोक्यो ओलंपिक 2020 में जहां महिला खिलाड़ी दूसरी बार ओलंपिक में एंट्री करने के बाद सेमीफाइनल तक पहुंचीं, वहीं पुरुषों ने 41 साल बाद ओलंपिक में कोई पदक जीता. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव उत्तर प्रदेश समेत कुछ राज्यों में होन वाले चुनाव से पहले ट्रंप कार्ड खेल दिया. उन्होंने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम ‘मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार’ कर दिया. यह देश का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है.

major dhyan chand bharat ratna award

इस दौरान भाजपा नेता ने एक फोटो ट्वीट की. इसमें प्रधानमंत्री मोदी को पुरस्कार का नाम बदलने पर बधाई दी गई. इसमें एक मेडल की भी फोटो लगी है. ट्वीट के बाद इसका स्क्रीनशॉट वायरल होने लगा. लोगों ने दावा किया कि फोटो में दिख रहा मेडल गैलेंट्री मेडल है मतलब बहादुरी का पदक. इसे परमवीर चक्र बताया गया.

@manaman_chhina ने लिखा कि यह परमवीर चक्र है न कि खेल रत्न पुरस्कार. फोटो में मेजर ध्यान चंद का कद छोटा कर दिया है जबकि पीएम की फोटो बड़ी है.

Lt Gen H S Panag(R) के अकाउंट से भी लिखा गया कि यह गैलेंट्री मेडल है.

The News Postmortem ने इसकी पड़ताल के लिए गूगल पर छानबीन की तो हमें indianairforce का​ लिंक मिला. इसके मुताबिक, फोटो में दिखाया गया मेडल परमवीर चक्र है. 26 जनवरी 1950 को इसकी स्थापना हुई थी. यह दुश्मन के सामने अदम्य बहादुरी और त्याग के लिए दिया जाता है. यह भारत का सर्वोच्च सैन्य पदक है. यह कांस्य का बना गोलाकार पदक होता है. इस पर स्टेट एंबलम के साथ इंद्र के वज्र के चार प्रतीक बने होते हैं. इसके पीछे की ओर हिंदी और अंग्रेजी में परमवीर चक्र लिखा होता है जबकि हिंदी व इंग्लिश के बीच कमल की दो कमल के फूल उभरे होते हैं. इसमें सादे बैंगनी रंग का रिबन होता है. भारतीय सेना के किसी भी रैंक के अधिकारी या कर्मचारी को उसकी बहादुरी व त्याग के लिए यह दिया जा सकता है.

param vir chakra image

विकीपीडिया के अनुसार, इसकी गिनती भारत रत्न के बाद दूसरे सर्वोच्च सम्मान के रूप मं होती है. जब भारतीय सेना ब्रिटिशर्स के अंडर में थी तब सेना का सबसे उच्च सम्मान विक्टोरिया क्रॉस हुआ करता था. यह अब तक 21 बहादुर जवानों को दिया जा चुका है. ज्यादातर को यह सम्मान मरणोपरांत दिया गया है. सूबेदार मेजर बन्ना सिंह ऐसे एकम़ा ऐसे परमवीर चक्र विजेता थे, जो कारगिल युद्ध तक जीवित थे.

param vir chakra winners list

अब हम बात करते हैं मेजर ध्यानचंद खेल रत्न की, जिसे पहले राजीव गांधी खेल रत्न के नाम से जाना जाता था. इस पर राजीव गांधी खेल रत्न लिखा हुआ है और बीच में अशोक चिह्न अंकित है. विकीपीडिया के मुताबिक, यह भारत में खेल का सर्वोच्च पुरस्कार है. मेजर ध्यानचंद ने अपने 20 साल के करियर में 1000 से ज्यादा गोल किए थे. खेल एवं युवा मंत्रालय, भारत सरकार (Ministry of Youth Affairs and Sports) हर साल सर्वोच्च प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी को यह सम्मान देती है. वर्ष 2020 में इस सम्मान के तहत एक मेडल, एक सर्टिफिकेट और 25 लाख रुपये का नकद इनाम दिया जाता है.

rajiv gandhi khel ratna award photo

Postmortem रिपोर्ट: फोटो में दिखाया गया मेडल सेना में बहादुरी व त्याग के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान परम वीर चक्र है, जबकि राजीव गांधी खेल रत्न की फोटो दूसरी है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : सच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Fact Check: क्या बीमार मां का इलाज कराने आए फौजी लक्ष्मण को पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा? जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर दो वीडियो और कुछ फोटो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें एक में वीडियो में टाइटल Justice for...

Fact Check: इस फोटो में दिख रही बुजुर्ग महिला Akshay Kumar की मां नही हैं, जानिए कौन हैं ये

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का 8 सितंबर की सुबह निधन हो गया. वह मुंबई स्थित हीरानंदानी अस्पताल...

Recent Comments

vibhash