Home COVID-19 Truth #FactCheck कोटा में Covid-19 संक्रमित नहीं थी छात्रा, किसी और दिन होगी...

#FactCheck कोटा में Covid-19 संक्रमित नहीं थी छात्रा, किसी और दिन होगी परीक्षा

'कोटा में कोरोना संक्रमित छात्रा को परीक्षा देने से रोका' शीर्षक वाली खबर का स्क्रीनशॉट तेजी से वायरल हो रहा है. सच्चाई यह है कि छात्रा कोविड—19 संक्रमित नहीं थी.

Joint Entrance Examination (JEE)—Main 2020 परीक्षा 1 सितंबर देश में कई सेंटरों पर शुरू हो गई है. 6 सितंबर तक चलने वाली इस परीक्षा के पहले दिन कई खबरें भी उड़ीं. इन्हीं में से एक है, कोटा में कोरोना संक्रमित छात्रा को परीक्षा देने से रोका. इसको लेकर कई ट्विटर यूजर्स ने ट्वीट किया और सरकार से The National Eligibility cum Entrance Test (NEET) पोस्टपोन करने की मांग की.

Dipika Acharya @DipikaAcharya__ ने 1 सितंबर को ट्वीट किया,
Center not allowed a girl to appear in exam because she is covid positive…..
Thats why we demand to govt postpone neet..

#JEEMain

मतलब
कोविड—19 पॉजिटिव होने की वजह से एक छात्रा को एग्जाम नहीं देने दिया गया…
इस वजह से हम सरकार से नीट पोस्टपोन करने की मांग करते हैं…
इसके साथ में एक खबर का स्क्रीनशॉट भी पोस्ट किया गया है. खबर का टाइटल है, कोटा में कोरोना संक्रमित छात्रा को परीक्षा देने से रोका. ट्वीट को अब तक 1400 से ज्यादा लोग रिट्वीट कर चुके हैं.

JEE Main 2020 Exam News in hindi

पोस्ट देखने के लिए यहां और आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

Aakash Saxena @the_sole_soul ने भी 1 सितंबर को इसी स्क्रीनशॉट को ट्वीट किया और लिखा,
To those who’s been commenting like “exam dena hai toh do varna ghr baitho” I’m a NEET and JEE aspirant. I wanna appear for both… But if I get infected with virus in JEE. Will NTA lemme apper for NEET even if I want to? Answer is “NO” soo stop ranting uselessly #JEEMain
मतलब
यह उनके लिए है, जो कमेंट कर रहे हैं, एग्जाम देना है तो दो वर्ना घर बैठो. मैं नीट और जेईई का अभ्यर्थी हूं. मुझे दोनों ही पेपर देने हैं…. लेकिन अगर मैं जेईई के एग्जाम में संक्रमित हो जाता हूं तो एनटीए मुझे नीट में बैठने की अनुमति नहीं देगी.
इस ट्वीट को भी अब तक 1200 से ज्यादा लोग रिट्वीट कर चुके हैं.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

The News Postmortem ने सबसे पहले इस खबर की हेडिंग ‘कोटा में कोरोना संक्रमित छात्रा को परीक्षा देने से रोका’ से गूगल पर सर्च किया तो चंबल संदेश की 1 सितंबर की खबर का लिंक मिला. इसमें लिखा है कि कोटा के रानपुर स्थित शिवज्योति इंटरनेशनल स्कूल में एक छात्रा ने एंट्री के समय खुद को कोविड संक्रमित बताया. इसके बाद उसे वहां रोक दिया गया. फिर National Testing Agency (NTA) के आॅब्जर्वर से बात करके छात्रा को एडमिट कार्ड और कोरोना रिपोर्ट मेल करने को कहा गया. साथ ही छात्रा को बताया गया कि उसका एग्जाम किसी और दिन होगा.

JEE Main 2020 news in hindi
Source: chambalsandesh.com

गूगल पर और सर्च करने पर हमें नवभारत टाइम्स की खबर का भी एक लिंक मिला. खबर के अनुसार, 1 सितंबर को कोटा के तीन सेंटरों पर परीक्षा हुई है. सेंटरों पर स्टूडेंट्स को दो घंटे पहले बुलाया गया था. शिव ज्योति इंटरनेशनल स्कूल में कोटा की रहने वाली एक छात्रा ने खुद को कोरोना का संदिग्ध मरीज बताया. उसके पिता की ​कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. उसको खुद में भी कुछ लक्षण दिख रहे हैं. उसने टेस्ट नहीं कराया है. उसने अपनी परीक्षा किसी और दिन कराने की बात कही. एनटीए से संपर्क करने के बाद उसकी परीक्षा किस और दिन कराने की बात मान ली गई. साथ में उसे कोविड—19 टेस्ट कराने को भी कहा गया.

Jee Main exam 2020 news in hindi
Source: chambalsandesh.com

आपको बता दें कि काफी विरोध के बावजूद 1 सितंबर से जेईई—मेन 2020 की परीक्षा देश भर में शुरू हो गई है. विपक्षी दलों, पत्रकारों और अभिनेता सोनू सूद समेत कई लोग कोरोना और बाढ़ का हवाला देते हुए इस परीक्षा को टालने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार ने किसी की भी नहीं सुनी. इसके लिए रेलवे ने भी अतिरिक्त ट्रेनें तक चलाने का ऐलान कर दिया है. पियूष गोयल ने ट्वीट का जानकारी दी कि बिहार में JEE Mains, NEET और NDA में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक आने-जाने की सुविधा के लिए भारतीय रेलवे ने 2 से 15 सितंबर तक 20 जोड़ी MEMU/DEMU ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है.

trains list for jee and neet aspirants in bihar

Postmortem रिपोर्ट: कोटा में छात्रा द्वारा कोविड—19 के लक्षण बताए जाने पर उसकी परीक्षा किसी और दिन कराए जाने को कहा गया है. छात्रा ने खुद परीक्षा किसी ​और दिन कराने क बात कही थी. साथ ही उसके पिता की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. उसने अभी तक टेस्ट भी नहीं कराया था.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Fact Check: क्या बीमार मां का इलाज कराने आए फौजी लक्ष्मण को पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा? जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर दो वीडियो और कुछ फोटो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें एक में वीडियो में टाइटल Justice for...

Fact Check: इस फोटो में दिख रही बुजुर्ग महिला Akshay Kumar की मां नही हैं, जानिए कौन हैं ये

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का 8 सितंबर की सुबह निधन हो गया. वह मुंबई स्थित हीरानंदानी अस्पताल...

Recent Comments

vibhash