Home Viral सच्चाई Fact Check: आठ साल पुराना है यह वीडियो, काहिरा में स्टूडेंट्स ने...

Fact Check: आठ साल पुराना है यह वीडियो, काहिरा में स्टूडेंट्स ने किया था प्रदर्शन

सोशल मीडिया पर 1 मिनट 12 सेकंड का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है. इसमें दिखाया गया है कि एक जगह पर कई शव पड़े हुए हैं. वीडियो के बीच में एक शव के पैर हिलते हुए दिखते हैं. इसको लेकर यूजर्स इजरायल के विरोधियों पर निशाना साध रहे हैं.

इजरायल और हमास के बीच भीषण जंग जारी है. इसमें अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है. इजरायल और फिलीस्तीन को लेकर सोशल मीडिया पर भी कई वीडियो वायरल हो रहे हैं. इनमें कई वीडियो फेक भी हैं. सोशल मीडिया पर 1 मिनट 12 सेकंड का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है. इसमें दिखाया गया है कि एक जगह पर कई शव पड़े हुए हैं. वीडियो के बीच में एक शव के पैर हिलते हुए दिखते हैं. इसको लेकर यूजर्स इजरायल के विरोधियों पर निशाना साध रहे हैं.

आदित्य गहलोत ने यह वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि इजरायल पर अंतराष्ट्रीय दबाव बनाने के लिए थोड़ी देर कफन उढ़ाकर एक वीडियो बनाना था ताकि जल्द युद्धविराम हो जाए.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

फेसबुक पर आरएसएस-स्वयंसेवक नाम से बने पेज पर भी इसे पोस्ट किया गया है. इसके अलावा राजेंद्र शर्मा समते कई और यूजर्स ने इस तरह की पोस्ट को शेयर किया है.

israel latest viral video

The News Postmortem ने इस वीडिया की पड़ताल की लेकिन वीडियो पर लगा लोगो साफ नजर नहीं आया. इसका एक स्क्रीनशाॅट निकालकर उसे रिवर्स इमेज की मदद से गूगल पर तलाशा तो पता चला कि इसे दुनिया में कई और लोगों ने भी पोस्ट किया है. हालांकि, उस वीडियो में लोगो साफ नतर आ रहा है.

मेजर फ्रीडम लवर के नाम से बने अकाउंट से 53 सेकंड के वीडियो को पोस्ट किया गया है. 11 मई को पोसट किया गया यह वीडियो इसका दूसरा पार्ट है. इसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि कपफन ओढ़े हुए कई लोग हिल रहे हैं. हालांकि, उन्हांने इसे कोविड से हुई मौतों से जोड़ दिया.

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

हमने वीडियो में दिख रहे लोगो को पत्रकार इफ्तिखार अहमद की मदद से इंग्लिश में ट्रांसलेट किया. इसमें लिखा हुआ है अलबदील. इसके बाद हमने गूगल पर तलाशा तो हमें एलबदील टीवी के यूट्यूब चैनल का लिंक मिला. चैनल को काफी खंगालने पर हमें वायरल वीडियो भी मिल गया. पूरा वीडियो 1 मिनट 54 सेकंड का है और इसे 28 अक्टूबर 2013 को अपलोड किया गया है मतलब करीब 8 साल पहले. इसका टाइटल है عرض تمثيلي بالجثامين داخل جامعة الازهر इसका हिंदी में ट्रांसलेशन है, अल-अजहर विश्वविद्यालय के अंदर शवों के रूप में प्रदर्शन किया गया. इसके विवरण में लिखा है कि अल-अजहर विश्वविद्यालय में दर्जनों मुस्लिम छात्रों ने कॉलेज प्रशासन भवन के सामने एक सामूहिक प्रदर्शन किया. इसमें छात्राएं भी शामिल रहीं. छात्रों ने सेना और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की.

Israel latest viral video

गूगल पर हमने अल अजहर विश्वविद्यालय के बारे में तलाशा तो पता चला कि काहिरा में स्थित मिश्र की सबसे पुरानी डिग्री देने वाली यूनिवर्सिटी है. इसे सुन्नी इस्लाम का सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय माना जाता है.

Postmortem रिपोर्टः यह वीडियो अक्टूबर 2013 का है मतलब करीब आठ साल पुराना. वीडियो भी काहिरा का है. इसका इजरायल से कोई संबंध नहीं है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash