Home Political सच FactCheck सही है यह फोटो, पीएम मोदी ने संत कबीर की मजार...

FactCheck सही है यह फोटो, पीएम मोदी ने संत कबीर की मजार पर चढ़ाई थी चादर

The News Postmortem को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एक तस्वीर भेजी गई है. इसमें पीएम मोदी एक मजार पर सजदा कर रहे हैं. पड़ताल में यह फोटो सही निकली.

फर्जी खबरों और पोस्ट के खिलाफ The News Postmortem की टीम में अब उनके पाठक भी जुड़ने लगे हैं. हमारे एक पाठक ने हमें व्हाट्सऐप पोस्ट भेजकर उसकी सत्यता जानने की बात कही. फोटो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसी जार या दरगाह में थे. प्रधानमंत्री मोदी वहां सजदा भी अदा कर रहे थे. इस फोटो के साथ ही एक कैप्शन भी लिखा है,
​हैरान हूं गालिब मस्जिद में देखकर
ऐसा भी क्या हुआ कि खुदा याद आ गया

PM Modi offering chadar at sant kabir mazar in maghar
Source: Times Of India

इनमें से एक फोटो पर एएनआई का लोगो लगा है. गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें इस तरह की फोटो मिल गईं. इनमें एएनआई की फोटो भी मिली. 28 जून 2018 को पोस्ट की गई इस फोटो पर लिखा था,
संतकबीर नगर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मगहर में संत कबीर की मजार पर चादर चढ़ाते हुए.

ट्विटर पर एडवांस सर्च करने पर हमें 28 जून 2018 का एएनआई का ही एक और ट्वीट मिला. उसमें मगहर में एक जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था,
वो (संत कबीर) धूल से उठे थे लेकिन माथे का चंदन बन गए. वो व्यक्ति से अभिव्यक्ति और इससे आगे बढ़कर शायद शब्द से ब्रहम शब्द हो गए. वो विचार बनकर आए और व्यवहार बनकर अमर हुए.

https://twitter.com/ANINewsUP/status/1012223289295622150

timesofindia के अनुसार, प्रधानमंत्री संत कबीर की 500वीं पुण्यतिथि पर मगहर गए थे. वहां उन्होंने संत कबीरदास की मजार पर चादर चढ़ाई थी. साथ ही में उन्होंने एक रिसर्च इंस्टीट्यूट के नींच कर पत्थर भी रखा था. इंस्टीट्यूट का नाम संत कबीर के नाम पर रखा गया है. उस समय संत कबीर एकेडमी की अनुमानित लागत 24 करोड़ रुपये थी.

Pm Modi offering prayer on sant kabir mazar in maghar
Source: Google

जनसत्ता के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कबीर की समाधि पर टोपी पहनने से इंकार कर दिया था. वह वहां प्रधानमंत्री मोदी के आने से पहले तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे थे. संत कबीर की मजार पर पहुंचने पर एक खादिम ने मुख्यमंत्री को परंपरागत टोपी पहनाने की कोशिश की तो उन्होंने दोनों हाथ आगे कर इससे इंकार कर दिया. इसके बाद मुख्यमंत्री योगी ने टोपी को छुआ और फिर वह टोपी रख दी गई थी.

Cm yogi rejecting to accept topi on sant kabor mazar
Source: Jansatta

Postmortem रिपोर्ट: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की यह फोटो सही है. हालांकि, दोनों किसी मस्जिद नहीं बल्कि संंत कबीर की मजार पर गए थे. इसे पीएम मोदी द्वारा 2019 लोकसभा चुनाव के अभियान से भी जोड़कर देखा गया था. मगहर संत कबीर की निर्वाण स्थली है. बताया जाता है कि आजादी के बाद पहली बार कोई प्रधानमंत्री मगहर गए थे.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash