Home Political सच Fact Check: निर्दलीय चुनाव लड़े थे BJP नेता D Karthik, केवल एक...

Fact Check: निर्दलीय चुनाव लड़े थे BJP नेता D Karthik, केवल एक वोट मिला, जानिए, उनके परिजनों ने क्यों नहीं दिया वोट

दावा किया जा रहा है कि Tamil Nadu वार्ड मेंबर के चुनाव में BJP उम्मीदवार डी कार्तिक (D Karthik) को केवल एक वोट मिला, जबकि उसके घर में ही पांच सदस्य हैं मतलब उसके घरवालों ने ही उसको वोट नहीं दिया है.

सोशल मीडिया पर तमिलनाडु निकाय चुनाव छाया हुआ है. यूजर्स जमकर भाजपा को ताने दे रहे हैं. दावा किया जा रहा है कि वार्ड मेंबर के चुनाव में BJP उम्मीदवार डी कार्तिक (D Karthik) को केवल एक वोट मिला, जबकि उसके घर में ही पांच सदस्य हैं मतलब उसके घरवालों ने ही उसको वाटे नहीं दिया है. मीडिया हाउसेज ने भी इस खबर को छापा. ब्लू टिक धारियों ने इसको खूब चटखारे के साथ पोस्ट किया.

D karthik bjp coimbatore
d karthik bjp hindi

The News Postmortem ने इस खबर की जांच के लिए छानबीन की तो पता चला कि तमिलनाडु में 6 अक्टूबर से 9 अक्टूबर तक निकाय चुनाव के लिए मतदान हुआ था. इसमें 79,433 उम्मीदवार 27003 पदों के लिए मैदान में उतरे थे. डी कार्तिक ने कोयंबटूर में वार्ड 9 से निर्दलीय चुनाव लड़ा था. उनका चुनाव चिह्न कार था. हालांकि, उनको वोट ही मिला है.

d karthik tamil nadu

The News Minute के अनुसार, कोयंबटूर में 9 अक्टूबर को मतदान हुआ था. डी कार्तिक भाजपा यूथ विंग के नेता हैं. वह पेरियानाइकनपालयम यूनियन कुरुदमपलयम पंचायत वार्ड नंबर 9 से वार्ड मेंबर के लिए मैदान में उतरे थे. कार्तिक के घर में पांच लोग हैं. इसके बावजूद उन्हें केवल एक वोट मिला. डी कार्तिक का कहना है कि उनके परिवार के सदस्यों के वोट वार्ड 4 में हैं. इस वजह से वे उनको वोट नहीं कर सकें. साथ ही निकाय चुनाव में प्रत्याशी पार्टी के सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ता है. हां, राजनीतिक दल उनका समर्थन जरूर करते हैं. डी कार्तिक ने निर्दलीय चुनाव लड़ा था. कुरुदमपलयम पंचायत में डीएमके के अरुण राज ने 387 वोटों के साथ जीत दर्ज की है जबकि एआईएडीएमके के वैथीयलिंगम को 196 वोट मिले हैं. यहां कुल 910 वोट पड़े थे.

New Indian Express के मुताबिक, भाजपा यूथ विंग के जिला उपाध्यक्ष डी कार्तिक ने साथ किया कि उन्होंने भाजपा की तरफ से चुनाव नहीं लड़ा था. उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा था और उनका चुनाव चिह्न कार था. उनके परिवार के चार वोट पंचायत के वार्ड नंबर 4 में थे. इतना ही नहीं उनका वोट भी वार्ड 9 में नहीं है. उनका कहना है कि सोशल मीडिया पर यह गलत प्रचाारित किया जा रहा है कि उन्होंने भाजपा की तरफ से चुनाव लड़ा है और उनको उनके परिवार के लोगों ने ही वोट नहीं दिए.

Postmortem रिपोर्ट: भाजपा नेता ​डी कार्तिक ने वार्ड 9 से निर्दलीय चुनाव लड़ा था. उनका वहां केवल 910 लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. उनके परिवार के सदस्यों व उनका वोट वार्ड 4 में था. इस वजह से उनको परिजनों के वोट भी नहीं मिल पाए.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : भ्रामक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: निर्दलीय चुनाव लड़े थे BJP नेता D Karthik, केवल एक वोट मिला, जानिए, उनके परिजनों ने क्यों नहीं दिया वोट

सोशल मीडिया पर तमिलनाडु निकाय चुनाव छाया हुआ है. यूजर्स जमकर भाजपा को ताने दे रहे हैं. दावा किया जा रहा है...

Fact Check: रिकॉर्ड वैक्सीनेशन की खुशी में नहीं दिया जा रहा Jio, Airtel या Vi यूजर्स को 3 महीने का फ्री रिचार्ज

त्यौहारों के मौसम चल रहा है. कोरोना की तीसरी लहर की आशंका भी बनी हुई है. ऐसे में देश में तेजी से...

Fact Check: Tata Group नहीं दे रहा फ्री कार, लिंक पर क्लिक करते ही आपका फोन हैक कर लेगा हैकर

टाटा ग्रुप आज खबरों में छाया हुआ है. सुबह से मीडिया में खबरें तैर रही हैं कि एयर इंडिया कंपनी वापस टाटा...

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Recent Comments

vibhash