Home COVID-19 Truth Fact Check: कोरोना वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के लिए किया जा रहा आपको...

Fact Check: कोरोना वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के लिए किया जा रहा आपको सावधान, जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण को लेकर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है. व्हाट्सऐप ग्रुप पर मिले मैसेज में लोगों को सावधान रहने को कहा गया है.

भारत में कोरोना वायरस के मामले भले ही एक करोड़ पार कर गए हों लेकिन अच्छी बात यह है कि अब पॉजिटिव केस कम हो गए हैं. अगले साल के पहले महीने में खुशी मिलने की उम्मीद भी जताई जा रही है मतलब वैक्सीन आने की भी संभावना है. उम्मीद की जा रही है कि जनवरी में टीकाकरण शुरू हो जाएगा. इसके लिए हाल ही में सात जिलों में इसकी रिहर्सल भी की गई, जो सफल रही. इस बीच सोशल मीडिया पर कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण को लेकर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है. The News Postmortem को भी ऐसा ही एक मैसेज मिला.

व्हाट्सऐप ग्रुप पर मिले मैसेज में लोगों को सावधान रहने को कहा गया है. इसमें लिखा है,
दोस्तो कोरोना वैक्सीन के लिये आये हुए फ़ोन को अटेंड न करें. रजिस्ट्रेशन के नाम पर आप का आधार कार्ड का नम्बर मांगा जाएगा, फिर कहेंगे कि आप के मोबाइल पर OTP आएगा वो हम को बताओ, आप का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा और वैक्सीन आप को जल्द मिल जाएगी और जैसे ही आप ने OTP बताया आप का एकाउंट खाली हो जाएगा.
जनहित में जारी

हमने इस मैसेज की पड़ताल के लिए गूगल पर कोरोना वैक्सीन को लेकर तलाश शुरू की तो बीबीसी की खबर मिली. इसके अनुसार, जनवरी से अगस्त तक करीब 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. टीकाकरण अभियान में करीब एक करोड़ हेल्थ वर्कर्स शामिल होंगे. इनमें फ्रंट लाइन में कार्य करने वाले लोगों को भी शामिल किया जाएगा. इनमें पुलिसकर्मी और नगर निगम के कर्मचारी भी होंगे. सबसे पहले इनको टीका लगेगा. इसके बाद 50 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को टीका लगेगा. साथ ही दूसरी अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों को इसका लाभ मिलेगा. नर्सें और दाइयां भी वैक्सीन को लोगों तक पहुंचाएंगी.

covid vaccine registration news in hindi

दैनिक जागरण के मुताबिक, टीकाकरण के रिहर्सल में इसकी तैयारियों को जांचा गया है. इसके लिए कोविन—ऐप को भी चेक किया गया है. इससे वैक्सीनेशिन पर निगरानी रखी जाएगी. शुरू में स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंट लाइन वॉरियर्स, 50 और उससे ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाने को कहा गया है.

Zee News के अनुसार, Co-WIN ऐप टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखेगा. इसको आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है. वैक्सीनेशन के लिए लोगों को इस पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा. टीकाकरण तीन चरणों में होगा. इसके लिए राज्यों ने डाटा जुटाना शुरू कर दिया है.

covid vaccine registration india news in hindi

यह तो हुई कोरोना वैक्सीनेशन की प्रक्रिया की बात. अब बात करते हैं मैसेज की तो अमर उजाला में 27 दिसंबर कोएक खबर छपी है. इसके मुताबिक, कोरोना वैक्सीन के नाम पर गाजियाबाद में एक शख्स से ठगी हुई है. क्रासिंग रिपब्लिक निवासी अर्जुन वर्मा के पास एक फोन आया था. फोन करने वाले ने टीकाकरण को लेकर सरकार की योजना बताई और उनसे उनके परिवार की डिटेल ले ली. आरोपी ने उनसे पंजीकरण शुल्क जमा कराने को कहा और एक लिंक भेज दिया. इस पर क्लिक करते ही अर्जुन के खाते से 6 हजार रुपये गायब हो गए.

नवभारत टाइम्स के मुताबिक, ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं. इस मामले में भोपाल साबर सेल के एएसपी रजत सकलेचा का कहना है कि कोविड—19 के नाम पर भेजे गए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें. ठग कहते हैं आपके पास कोविड—19 के रजिस्टेशन का ओटीपी आया है जबकि इसे बताते ही आपके अकाउंट से रुपये गायब हो जाएंगे. ओटीपी किसी से भी शेयर न करें, यह ट्रांजेक्शन का ओटीपी होता है.

Postmortem रिपोर्ट: कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के लिए सरकार ने योजना तैयार कर ली है. इसके तहत सबसे पहले फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगेगा. इसके बाद गंभीर बीमारी व 50 से ज्यादा उम्र वालों का नंबर आएगा. करीब 30 करोड़ लोगों को टीका लगेगा. इसके लिए कोविन ऐप से निगरानी रखी जएगी. वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के नाम पर लोगों को लूटने के लिए ठगों ने भी अपना जाल बिछा दिया है. अत: रजिस्ट्रेशन के नाम पर आए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें. साथ ही किसी को भी ओटीपी या आधार कार्ड की डिटेल न दें.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : सच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash