Home COVID-19 Truth Fact Check: यूएस और यूके में फ्री में लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानिए...

Fact Check: यूएस और यूके में फ्री में लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानिए भारत में कितने रुपये देने पड़ेंगे

कोरोना की वैक्सीन को लेकर कई फर्जी पोस्ट भी वायरल हो रही हैं. इनको लेकर लोगों का दिमाग चकरा रहे हैं. कुछ इनका इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए भी कर रहे हैं.

वर्ष 2021 की शुरुआत के साथ ही भारत को कोरोना वायरस से लड़ने में कफी बड़ी सफलता मिली. आॅक्सफोर्ड की वैक्सीन कोविशील्ड और स्वदेशी कोवैक्सीन को मंजूरी मिल गई है.इमरजेंसी में दोनों वैक्सीन के इस्तेमाल की अनुमति भी मिल चुकी है. इस बीच सोशल मीडिया पर वैक्सीन को लेकर कई फर्जी पोस्ट भी वायरल हो रही हैं. इनको लेकर लोगों का दिमाग चकरा रहे हैं. कुछ इनका इस्तेमाल राजनीतिक फायदे के लिए भी कर रहे हैं.

The News Postmortem के पाठक ने ऐसा ही एक स्क्रीनशॉट भेजकर पड़ताल करने को कहा. इसमें लिखा है,
ब्राजील में वैक्सीन की कीमत $8 है. इटली में 6 यूरो है. अमेरिका इंग्लैंड का रेट आपने देख लिया.
पूरी दुनिया में एकमात्र भारत ऐसा देश है, जहां सब को बिल्कुल फ्री वैक्सीन लगेगी.
नेशन प्रोजेक्ट पर सरकार का लगभग कई हजार करोड़ रुपए खर्च होगा. उसके बाद कांग्रेसी गुलाम कहेंगे.
स्क्रीनशॉट में कोरोना वैक्सीन की कीम​त लिखी है. दावा किया गया कि अमेरिका में इसकी कीमत 5 हजार और इंग्लैंड में 3 हजार रुपये है जबकि भारत में यह फ्री होगी.
Shrish_1987 अकाउंट से इस तरह का ट्वीट किया गया है.

corona vaccine cost india
corona vaccine price in india in hindi

yogi devnath @YogiDevnath2 ने भी 3 जनवरी को ट्वीट करते हुए लिखा,
कोरोना वैक्सीन की कीमत
अमेरिका 5000₹
इंग्लैंड 3000₹
भारत 0₹

#माफीमांगोअखिलेश

corona vaccine price in india in hindi

सबसे पहले हमने गूगल पर कीवर्ड से अमेरिका में कोरोना वैक्सीन की कीमत तलाशी तो काफी खोजबीन के बाद healthline का लिंक मिला. इसके अनुसार, पीफाइजर, माडर्ना और एस्अ्रा जेनेका अपनी वैक्सीन प्रभावी होने का दावा कर चुके हैं. वैक्सीन के उत्पादन के फेडरल सरकार ने फंड भी दिया है. एक डोज की कीमत 3 से 37 डॉलर के बीच में पड़ेगी मतलब आज के रेट के अनुसार, 219 से 2700 रुपये के बीच में होगी. जैसे मॉडर्ना की दो डोज लेंगेी. इनमें एक की कीमत करीब 32 से 37 डॉलर तक हो सकती है मतलब 2400 से 2700 रुपये के बीच. जबकि पीफाइजर की दो डोज के दाम 39 डॉलर यानी 2845 रुपये हो सकते हैं. इसी तरह से अन्य वैक्सीन के दाम रह सकते हैं. गौर करने वाली बात यह है कीमत सरकार को चुकानी होगी न कि आम आदमी को. इस बारे में पहले ही साफ किया जा चुका है कि यूएस टैक्सपेयर्स के पैसे से खरीदी गई वैक्सीन नागरिकों को मुफ्त में दी जाएगी. इसके लिए उनसे कोई भी पैसा नहीं लिया जाएगा.

corona vaccine price in india in hindi

अब हम यूके की बात करें तो हमने वहां की सरकारी वेबसाइट पर छानबीन की. इसमें कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण के कई सवालों का जवाब दिया गया है. इसके मुताबिक, ब्रिटेन में भी सबसे पहले टीका फ्रंटलाइन हेल्थ, सोशल और वृद्धाश्रम में रह रहे बुजुर्गों और उनकी देखभाल कर रहे वर्कर्स को लगेगा. इसमें यह भी बताया गया है कि यह वैक्सीनेशन केवल मान्य संगठनों द्वारा ही किया जाएगा और इसका कोई भी पैसा नहीं लिया जाएगा मतलब यह वैक्सीन फ्री होगी.

corona vaccine price in india in hindi

अब हम बात करें भारत की तो 1 जनवरी को आज तक में छपी खबर के मुताबिक, देश में भी सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका लगेगा. इसके बाद 50 या उससे ज्यदा की उम्र के लोगों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को टीका लगेगा. भारत सरकार को सीरम इंस्टीट्यूट की एक डोज 200 रुपये में पड़ेगी मतनब दो डोज 400 रुपये की हो गई. हं, प्राइवेट एजेंसियों को यह एक डोज 1 हजार से मिल सकती है. मतलब प्राइवेट जगह से वैक्सीन लेने का खर्च 2 हजार रुपये होगा. हालांकि, खबर में कीमत के बारे में कंफर्म नहीं किया गया.

corona vaccine price in india in hindi

गूगल पर और छानबीन करने पर हमें 2 जनवरी की businesstoday की खबर मिली. इसके अनुसार, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि पूरे देश में लोगों को वैक्सीन फ्री में दी जाएगी. पहले माना जा रहा था कि केवल 30 करोड़ लोगों को ही यह वैक्सीन फ्री में दी जाएगी.

Postmortem रिपोर्ट: इससे यह साबित होता है कि यूएस, यूके और भारत में सरकार कोरोना की वैक्सीन का खर्च उठाएगी, आम आदमी से इसकी कीमत नहीं ली जाएगी.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : भ्रामक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash