Home Political सच Fact Check: बाल ठाकरे ने रखी थी राजीव गांधी सी लिंक की...

Fact Check: बाल ठाकरे ने रखी थी राजीव गांधी सी लिंक की नींव, सोनिया गांधी ने किया था उद्घाटन

सोशल मीडिया पर एक ब्रिज की फोटो काफी तेजी से वायरल हो रही है. दावा किया जा रहा है कि यह मुंबई के बांद्रा का पुल है, कोई अमेरिका, फ्रांस या लंदन का ब्रिज नहीं है. इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी को श्रेय दिया जाता है.

सोशल मीडिया पर एक ब्रिज की फोटो काफी तेजी से वायरल हो रही है. दावा किया जा रहा है कि यह मुंबई के बांद्रा का पुल है, कोई अमेरिका, फ्रांस या लंदन का ब्रिज नहीं है. इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी को श्रेय दिया जाता है मतलब उनके कार्यकाल में इसकी शुरुआत हुई और इसको बनवाने का श्रेय भी उनको ही जाता है. The News Postmortem को इसकी सच्चाई जानने के लिए कहा गया.

घनश्याम कुमार नाम से बने ट्विटर अकाउंट से इस फोटो को ट्वीट किया गया है. साथ में लिखा है,
यह कोई अमेरिका, फ्रांस, लंदन या दुबई का ब्रिज नहीं है. यह बांद्रा के मुंबई का ब्रिज है. वाह मोदी जी वाह.
मोदी है तो मुमकिन है

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

सत्य सनातन ट्विटर अकाउंट से भी इस फोटो को ट्वीट किया गया. साथ में लिखा गया,
यह कोई अमेरिका, फ्रांस, लंदन का ब्रिज नहीं है. यह बांद्रा के मुंबई का ब्रिज है. वाह मोदी जी

आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें.

कई और सोशल मीडिया यूजर्स ने इस फोटो को पोस्ट करते हुए इस ब्रिज का श्रेय प्रधानमंत्री मोदी को दिया.

rajiv gandhi sea link mumbai image
bandra worli sea link images

हमने इसकी पड़ताल के लिए सबसे पहले रिवर्स इमेज प्रोसेज को ट्राई किया. इससे पता चला कि यह राजीव गांधी सी लिंक की फोटो है. यह मुंबई में स्थित है. इसका मतलब है कि यह सच है कि शानदार पुल मुंबई में है.

bandra worli sea link facts in hindi

ज्यादा जानकारी के लिए हमने विकीपीडिया को देखा. इसके मुताबिक, राजीव गांधी सी लिंक (Rajiv Gandhi Sea Link) को बांद्रा वर्ली (Bandra–Worli Sea Link) भी कहते हैं. यह 5.8 किलोमीटर लंबा है. 8 लेन का यह पुल मुंबई के पश्चिमी छोर बांद्रा को दक्षिणी भाग वर्ली से जोड़ता है. यह पश्चिमी छोर को मुंबई के नरीमन प्वाइंट से जोड़ने की योजना का एक हिस्सा है. इस पुल को महाराष्ट्र स्टेट रोड डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (MSRDC) ने मंजूरी दी थी और इसे हिंदुस्तान कंस्ट्रक्शन कंपनी ने बनाया है. इसकी नींव 1999 में तत्कालीन शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने रखी थी. इसका शुरुआती लागत 6.6 बिलियन यानी 660 करोड़ रुपये थी. इसका लक्ष्य पांच साल का रखा गया था. कुछ अड़चनों के चलते यह पांच साल लेट हो गया. इस वजह से इसकी अनुमानित लागत 16 बिलियन यानी 1600 करोड़ रुपये हो गई. इसके बनने से बांद्रा और वर्ली के बीच की दूरी कम हो गई. अक्टूबर 2009 में इस पर से रोजाना औसतन 37500 वाहन निकलते थे.

bandra worli sea link facts in hindi

1 जुलाई 2009 को वन इंडिया में छपी खबर के अनुसार, तत्कालीन कृषि मंत्री शरद पवार ने इस ब्रिज का नाम राजीव गांधी सेतु रखने का प्रस्ताव दिया था. उस समय राज्य में कांग्रेस व एनसीपी की सरकार थी. महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने शरद पवार का प्रस्ताव मान लिया और इसका नाम राजीव गांधी सी लिंक हो गया. इसका उद्घाटन यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया था.

sonia gandhi inaugurate rajiv gandhi sea link

Postmortem रिपोर्ट: 14 मार्च 1995 से 17 अक्टूबर 1999 तक महाराष्ट्र में शिवसेना—भाजपा की सरकार थी. अक्टूबर में यहां एनसीपी—कांग्रेस की सरकार बनी थी. हालांकि, बांद्रा—वर्ली सी लिंक की नींव बाला साहेब ठाकरे ने रखी थी. इसके बाद 2009 में इसका उद्घाटन सोनिया गांधी ने किया था. उस समय केंद्र में भी यूपीए की सरकार थी. मतलब इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कोई योगदान नहीं है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : भ्रामक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Fact Check: क्या बीमार मां का इलाज कराने आए फौजी लक्ष्मण को पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा? जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर दो वीडियो और कुछ फोटो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें एक में वीडियो में टाइटल Justice for...

Fact Check: इस फोटो में दिख रही बुजुर्ग महिला Akshay Kumar की मां नही हैं, जानिए कौन हैं ये

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का 8 सितंबर की सुबह निधन हो गया. वह मुंबई स्थित हीरानंदानी अस्पताल...

Recent Comments

vibhash