Home Viral सच्चाई #FactCheck न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर पर भगवान राम की तस्वीर नहीं हुई...

#FactCheck न्यूयॉर्क में टाइम्स स्क्वायर पर भगवान राम की तस्वीर नहीं हुई डिस्प्ले

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से पहले एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसे न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वायर का बताया जा रहा है. इसमें भगवान् राम की छह तस्वीरें डिस्प्ले की गयीं हैं. पड़ताल में ये तस्वीरें फेक निकलीं, इन्हें एडिट कर लगाया गया है.

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का काम 5 अगस्त से भूमि पूजन से शुरू हो जाएगा. जिसको लेकर इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी अधिक सक्रियता है. इस बीच एक तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है. जिसमें न्यूयॉर्क टाइम्स स्क्वायर पर भगवान राम की तस्वीरें प्रदर्शित की गई हैं. दावा किया जा रहा है भूमि पूजन से पहले ही ये तस्वीरें अपलोड की गई हैं.

Source: FB Post

The News Postmortem को ये तस्वीर सोशल मीडिया से मिली. जिसके बाद कई लोगों ने इसकी सच्चाई के बारे में पूछा. हमने इसकी पड़ताल शुरू की. ट्विटर पर अमिताभ रंजन नामक यूजर का एक पोस्ट मिला. जिसे उन्होंने क्षितिज महाजन नामक यूजर के वाल से शनिवार को रिट्वीट किया था. जय श्री राम के साथ ये तस्वीर अपलोड थी.

जब हमने और सर्च किया तो हमें एक और यूजर https://twitter.com/AvinashGoraksha के एकाउंट पर यही तस्वीर मिली.जिसमें लिखा था एक घंटे पहले टाइम्स स्क्वायर. इन्होने भी शनिवार शाम के समय ट्विट किया था.

हमने इस तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया तो कोई रिजल्ट नहीं मिला. इसके बाद हमने और सर्च किया तो Birds Eye TV नाम के फेसबुक पेज पर ये तस्वीर मिली.जिसमें लिखा था कि पांच अगस्त को टाइम्स स्क्वायर ऐसा होगा ये फोटोशॉप है.यानि जिस तस्वीर का जिक्र हो रहा है उस पर सवाल खड़ा हो गया.

From my American Friend Madhukar Bhaiyas wall – he says this is photoshopped but on 5th August the square will look like…

Posted by Birds Eye TV on Saturday, August 1, 2020

जब हमने गूगल पर टाइम्स स्क्वायर पर ऐसी खबर के बारे में सर्च किया तो हमें NDTV अंग्रेजी वेबसाइट का एक लिंक मिला. जिसके मुताबिक 5 अगस्त को राम मंदिर की 3D तस्वीरें यहां दिखाई जाएंगी.

क्या वाकई शनिवार को टाइम्स स्क्वायर पर भगवान राम की तस्वीरें डिस्प्ले की गयीं थीं, इसके लिए हमने और सर्च किया तो कहीं कोई रिजल्ट नहीं आया. बाद में ये जानकारी मिली कि इन तस्वीरों को एडिट कर यहां पर चिपकाया गया है. उस दिन टाइम्स स्क्वायर पर ऐसी कोई तस्वीर नहीं थी. तस्वीर को ध्यान से देखने पर भी उसमें कई कमियां मिलीं जिससे पता चला कि ये असल तस्वीरें नहीं हैं.

Postmortem रिपोर्ट: हमारी पड़ताल में ये फोटो पूरी तरह फेक साबित हुई. शनिवार एक अगस्त को टाइम्स स्क्वायर पर इस तरह की कोई फोटो डिस्प्ले नहीं हुई.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash