Home Political सच Fact Check: कांग्रेस शासन में भी अडानी के पास था साउथ पवेलियन,...

Fact Check: कांग्रेस शासन में भी अडानी के पास था साउथ पवेलियन, जानिए क्या है अडानी और रिलायंस एंड का सच

गुजरात के अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम क्या हुआ सोशल मीडिया पर अचानक अडानी, अंबानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही दिखाई देने लगे. ट्विटर पर तो अडानी, अंबानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संबंधित ट्वीट्स की बाढ़ सी आ गई.

गुजरात के अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी स्टेडियम क्या हुआ सोशल मीडिया पर अचानक अडानी, अंबानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही दिखाई देने लगे. ट्विटर पर तो अडानी, अंबानी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संबंधित ट्वीट्स की बाढ़ सी आ गई. इस बहती गंगा में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी डुबकी लगा ली. स्टेडियम के रिलायंस और अडानी पवेलियन के साथ प्रधानमंत्री का नाम जोड़कर कमेंट किए जाने लगे.

राहुल गांधी ने 24 फरवरी को ट्वीट किया कि सच खुद-ब-खुद कितनी खूबसूरती से सबके सामने आ गया है.
नरेंद्र मोदी स्टेडियम

अडानी एंड

रिलायंस एंड

जय शाह की अध्यक्षता के साथ

इसके साथ ही उन्होंने #HumDoHumareDo हैशटैग इस्तेमाल करके प्रधानमंत्री पर तंज कसा.

इसी तरह अविनाश, रबिअुल, प्रशांत भूषण, मधु और अमन जिंदल समेत कई ट्विटर यूजर्स ने इसको लेकर प्रधानमंत्री पर तंज कसा.

The News Postmortem ने मोटेरा स्टेडियम का इतिहास ख्ंागाला. सबसे पहले हम आपको इतिहास बताते हैं. विकीपीडिया के अनुसार, मोेटेरा स्टेडियम सरदार पटेल स्पोट्र्स एंक्लेव में बना है. इसे सरदार पटेल स्टेडियम के नाम से भी जाना जाता है. 2020 में पुनर्निर्माण के बाद यह दुनिया में क्रिकेट का सबसे बड़ा स्टेडियम बन गया जबकि ओवरआॅल स्टेडियम में दुनिया में इसका नंबर दूसरा है. इसमें 1 लाख 32 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता है. इसका निर्माण 1983 में हुआ था और 2006 में चैंपियंस ट्राॅफी से पहले इसका पुनर्निर्माण हुआ था. 2015 में इसे पूरी तरह तोड़कर फरवरी 2020 में नया रूप दिया गया. इसमें करीब 800 करोड़ रुपये का खर्चा आया था. क्रिकेट के अलावा इसमें नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम भ हो चुका है.

Narendra Modi Stadium Ahmedabad Gujrat Image
Source: Google

अगर रिकाॅर्ड की बात करें तो इस मैदान पर सुनील गावस्कर ने 1986-87 में अपने 10 हजार रन पूरे किए थे. कपिल देव ने एक इनिंग में नौ विकेट लेने का कारनामा भी इसी मैदान पर किया है. इतना ही नहीं कपिल देव ने 1994 में रिचर्ड हेडली के 431 विकेटों का रिकाॅर्ड भी इसी मैदान पर तोड़ा था. सचिन तेंदुलकर के लिए भी यह मैदान यादगाार रहा है. उन्होंने 1999 में टेस्ट मैच में अपना पहला दोहरा शतक लगाया था. 2011 में इसी मैदान पर उन्होंने वनडे क्रिकेट में अपने 18 हजार रन पूरे किए थे. ऐसा करने वाले पहले दुनिया के इकलौत बल्लेबाज हैं.

Namaste Trump in Motera Stadium Gujrat Image
Source: Google

अब हम बात करते हैं अडानी पवेलियन की. गूगल पर काफी तलाश करने के बाद हमें विकीविजुअली के एक आर्टिकल का लिंक मिला. इसमें अडानी पवेलियन की पहले की फोटो दे रखी है. यह फोटो 20 जून 2009 की है. मतलब उस समय अडानी पवेलियम मौजूद था.

Adani End in Narendra Modi Stadium image
Source: wikivisually

गूगल पर ही हमें पता चला कि मोटेरा स्टेडियम उर्फ नरेंद्र मोदी स्टेडियम में अडानी पवेलियन एंड के अलावा दूसरा छोर GMDC एंड है. जीएमडीसी मतलब गुजरात मिनरल डेवलपमेंट काॅरपोरेशन. Our News के मुताबिक, गुजराज क्रिकेट स्टेडियम के उपाध्यक्ष धनराज नथवानी का कहना है कि स्पाॅन्सर के नाम पर पवेलियन का नाम रखा जाता है. रिलायंस ने नाॅर्थ पवेलियन को स्पाॅन्सर किया है जबकि अडानी ने साउथ पवेलियन की स्पाॅन्सरशिप अपने पास ही रखी है. कांग्रेस शासित गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के समय भी अडानी ग्रुप मोटेरा स्टेडियम में साउथ पवेलियन का स्पाॅन्सर रहा है. स्टेडियम के पुनर्निर्माण के बाद रिलायंस ने नाॅर्थ पवेलियन की स्पाॅन्सरशिप ले ली. नाॅर्थ पवेलियन को पहले जीएमडीसी पवेलियन के नाम से जाना जाता था. उस समय उसका स्पाॅन्सर जीएमडीसी था.

Postmortem रिपोर्टः मोटेरा स्टेडियम उर्फ नरेंद्र मोदी स्टेडियम में अडानी पवेलियन काफी पहले से हैं. कांग्रेस के शासन में भी उसके पास साउथ पवेलियन की स्पाॅन्सरशिप. वहीं, रिलायंस ने पुनर्निर्माण के बाद नाॅर्थ पवेलियन को अपने नाम करा लिया. पहले यह जीएमडीसी के पास था.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : भ्रामक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Fact Check: क्या बीमार मां का इलाज कराने आए फौजी लक्ष्मण को पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा? जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर दो वीडियो और कुछ फोटो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें एक में वीडियो में टाइटल Justice for...

Fact Check: इस फोटो में दिख रही बुजुर्ग महिला Akshay Kumar की मां नही हैं, जानिए कौन हैं ये

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का 8 सितंबर की सुबह निधन हो गया. वह मुंबई स्थित हीरानंदानी अस्पताल...

Recent Comments

vibhash