Home Viral सच्चाई Fact Check: अडानी ग्रुप के रेल इंजन पर विज्ञापन को गलत दावे...

Fact Check: अडानी ग्रुप के रेल इंजन पर विज्ञापन को गलत दावे के साथ किया जा रहा शेयर, जानिए सच

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें ये दावा किया जा रहा है कि भारतीय रेल को पूरी तरह अडानी को सौंप दिया गया है.

सोशल मीडिया पर आए दिन कुछ न कुछ ऐसा वायरल होता है, जिसका मकसद केंद्र सरकार को बदनाम किया जा सके. जबसे देश में किसान आन्दोलन शुरू हुआ है तब से लगातार उद्योगपति अडानी को घेरा जा रहा है. इसी क्रम में एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें ये दावा किया जा रहा है कि भारतीय रेल को पूरी तरह अडानी को सौंप दिया गया है. वीडियो में दिख रहे रेल इंजन में अडानी ग्रुप का नाम भी है. लोग इसे मोदी सरकार की आलोचना करते हुए खूब शेयर कर रहे हैं.

The News Postmortem ने इस वीडियो की पड़ताल शुरू की. हमें ये वीडियो फेसबुक पर क्रंथी किरण नाम के यूजर के वाल पर मिला.ये वीडियो 13 दिसम्बर को पोस्ट किया गया. वीडियो के साथ लिखा गया ADANI RAILWAY @Indinarailway इस वीडियो को इसी दिन कई और अन्य यूजर्स ने भी शेयर किया है.

वहीँ यही पोस्ट हमें ट्विटर पर भी देखने को मिला. 14 दिसम्बर को Ashokee 13 Bhutedia नामक यूजर ने ये वीडियो पोस्ट किया. जिसमें वीडियो के साथ लिखा था कि What this means is that Indian Railways has also been sold to Adani

जिस मकसद से ये वीडियो शेयर किया गया था, हमने रेलवे की इस नीति को लेकर जब सर्च किया तो कहीं भी इस तरह का कोई रिजल्ट नहीं मिला. रेलवे ने कुछ माह पहले चुनिंदा रूटों पर पीपीपी मॉडल पर प्राइवेट तेजस ट्रेन चलाई हैं, लेकिन उनमें कहीं भी अडानी ग्रुप नहीं है. इसी दौरान हमें मिंट का फरवरी 2020 का एक लिंक मिला. जिसके मुताबिक पश्चिम रेलवे ने ट्रेन के इंजन पर भी विज्ञापन से आय की शुरुआत की है. जिसमें उसे पहला विज्ञापन अडानी ग्रुप का मिला. ट्रेन के इंजन पर अडानी ग्रुप के फार्च्यून ब्रांड का विज्ञापन है और उस पर अडानी ग्रुप लिखा है.

Postmortem रिपोर्ट:- पड़ताल से साफ़ है कि रेलवे के इंजन में अडानी ग्रुप का विज्ञापन है न कि रेलवे का संचालन अडानी ग्रुप को सौंप दिया गया है. वायरल वीडियो गलत मकसद से वायरल हो रहा है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Fact-Check: क्या नूपुर शर्मा को फटकार लगाने वाले जस्टिस जे बी पारदीवाला 80 के दशक में कांग्रेस के विधायक रहें हैं?

The News Postmortem : बीजेपी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने 1 जुलाई को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि...

Fact-Check: क्या उदयपुर हत्याकांड के आरोपियों को राहुल गांधी ने बच्चे कहा ?

The News Postmortem: उदयपुर हत्याकांड से पूरा देश सन्न है।इस बीच कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी का इंटरव्यू सोशल मीडिया पर वायरल...

Fact-Check: क्या मीडिया से बात करते हुए नशे में धुत थे पूर्व शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे?

The News Postmortem :इन दिनों महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल मची हुई है। इसके मद्देनजर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो...

Fact-Check: क्या वायरल वीडियो में शिवलिंग पर बीयर चढ़ा रहे युवक मुस्लिम समाज से हैं?

The News Postmortem: सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दो युवक एक नदी किनारे शिवलिंग पर बीयर चढ़ाते हुए...

Recent Comments

vibhash