Home Viral सच्चाई Fact Check: क्या कृषि बिल पास होने से पहले ही अडानी ग्रुप...

Fact Check: क्या कृषि बिल पास होने से पहले ही अडानी ग्रुप ने गोदाम की तैयारी कर ली है

कृषि बिल पास होने के साथ किसानों का आन्दोलन तेज हो गया है. जिसमें विपक्षी दल कांग्रेस भी शामिल है. इसी बीच सोशल मीडिया पर इस बिल को लेकर अडानी ग्रुप पर भी निशाना साधा जा रहा है, जिसमें बिल पास होने से पहले ही अडानी ग्रुप की अनाज भण्डारण की तस्वीरें वायरल की जा रहीं हैं.

संसद के मानसून सत्र में कृषि बिल 2020 पास होने के बाद से केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ किसान संगठन और विपक्ष मोर्चा खोले हुए है. वहीँ सोशल मीडिया के जरिये लगातार सरकार को घेरा जा रहा है. इसी के तहत कुछ लोगों ने अडानी ग्रुप पर पहले से ही तैयारी का आरोप लगाते हुए एक फोटो वायरल की जा रही है. जिसमें भारतीय खाद्य निगम और अडानी ग्रुप का होर्डिंग पंजाब के मोगा जिले में एक खेत के बाहर लगा हुआ है.

माइक्रो ब्लॉग्गिंग साइट ट्विटर पर हमें ये पोस्ट भाजपा हटाओ देश बचाओ नामक अकाउंट पर मिला. जोकि 23 सितम्बर को किया गया था.इसके साथ एक मैसेज लिखा था कि

जिस तरह telecom sector का centralisation किया गया..उसी तरह wheat market को भी centralised करने की सोची समझी साजिश हो रही है. .plss…read this thread& try to understand the chronology

लगभग यही पोस्ट हमें बरुण कुमार नामक यूजर के अकाउंट पर मिली. ये पोस्ट भी 23 सितम्बर को की गयी थी. इसमें लिखा गया था कि

#CongressBjpKilledDemocracy बिल अभी राष्ट्रपति के पास गया है संसद में बाकी है और एडवांस में अदानी की तैयारी शुरू है। किसानों को पूरी तरह बर्बाद करके ही छोड़ेगे कांग्रेस बीजेपी वाले। #राष्ट्रीय_किसान_मोर्चा इसका जाहिर विरोध करता है

https://twitter.com/BARUNKU52901915/status/1308777009682685959?s=20

कृषि बिल को लेकर केंद्र की मोदी सरकार का विरोध लगातार बना हुआ है. लेकिन किसी एक कम्पनी को खरीद का अधिकार दिया गया है ऐसी कोई खबर नहीं मिली. इसके बाद जब अडानी ग्रुप की एग्री लोजिस्टिक्स वेबसाइट पर सर्च किया तो पता चला कि उसके पास अनाज स्टोर करने का लाइसेंस 2007 से है. उसके और भारतीय खाद्य निगम के बीच 700 करोड़ का करार हुआ है. कम्पनी अनाज का भण्डारण कर मांग के मुताबिक देश के अलग-अलग हिस्सों में आपूर्ति करती है. इसलिए इस कृषि बिल से अडानी का कोई मतलब नहीं है.

सर्च में हमें बिजनेस स्टैण्डर्ड की 10 जून 2016 की एक खबर मिली, जिसके मुताबिक अडानी ग्रुप और भारतीय खाद्य निगम के बीच गेंहू भण्डारण के लिए करार हुआ है. जिसमें अडानी ग्रुप पंजाब और बिहार में प्लांट बना रहा है. यानि अनाज के भण्डारण का काम अडानी ग्रुप 2007 से कर रहा है.

Postmortem रिपोर्ट:- भारतीय खाद्य निगम के साथ अडानी ग्रुप का करार गेहूं भण्डारण को लेकर 2007 से करार है. इस करार के तहत अडानी ग्रुप पंजाब और बिहार में प्लांट बना रहा है. जिस दावे के साथ फोटो वायरल की जा रही है वो पूरी तरह गलत है.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK : झूठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Fact Check: क्या बीमार मां का इलाज कराने आए फौजी लक्ष्मण को पुलिसवालों ने बुरी तरह पीटा? जानिए क्या है सच

सोशल मीडिया पर दो वीडियो और कुछ फोटो तेजी से वायरल हो रहे हैं. इसमें एक में वीडियो में टाइटल Justice for...

Fact Check: इस फोटो में दिख रही बुजुर्ग महिला Akshay Kumar की मां नही हैं, जानिए कौन हैं ये

बॉलीवुड के खिलाड़ी अक्षय कुमार की मां अरुणा भाटिया का 8 सितंबर की सुबह निधन हो गया. वह मुंबई स्थित हीरानंदानी अस्पताल...

Recent Comments

vibhash