Home COVID-19 Truth #FactCheck Covid—19 रोगियों की सूची पोस्ट करने पर नहीं होगी जेल, फर्जी...

#FactCheck Covid—19 रोगियों की सूची पोस्ट करने पर नहीं होगी जेल, फर्जी खबर हो रही वायरल

क्या कोविड—19 के मरीजों की सूची वायरल करने पर तीन माह की जेल होगी? क्या केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है?

कोविड—19 महामारी के इस दौर में कई न्यूज वेबसाइट्स व्हाट्सग्रुप समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर कोरोना संक्रमित लोगों की सूची वायरल कर रहे हैं. इस बीच एक न्यूज काफी तेजी से वायरल हो रही है. इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है. इसके तहत संक्रमित रोगियों की सूची वायरल करने पर तीन माह की जेल होगी. इसके लिए सोशल मीडिया पर निगरानी के लिए सभी एसपी को निर्देश जारी किए गए हैं.

Rubal Kamlapuri ने 20 अगस्त को निर्वाण टाइम्स पेपर की कटिंग शेयर की. इसमें खबर लगी थी कि संक्रमित रोगियों की सूची वायरल करने पर 3 माह की कैद होगी. यह खबर किसके हवाले से दी गई, इसका कोई भी जिक्र नहीं किया गया.

Saral Hare Krishna ने 18 अगस्त को ‘कट्टर हिन्दू राष्ट्रवादी ग्रुप (अपने 100 हिन्दू भाईयों को जॉइन करवाये)’ पेज पर पोस्ट किया,
Big breaking…
कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन…
संक्रमित रोगियों की सूची वायरल करने पर होगी 3 माह की कैद…
सभी सोशल मीडिया पर निगरानी के लिए पुलिस अधीक्षकों को जारी हुए निर्देश…

कुछ इसी तरह की पोस्ट 18 अगस्त को Shekhawati Times और 21 अगस्त को
Jhansi Samachar ने की.

*Big breaking*…कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन…संक्रमित रोगियों की सूची वायरल करने पर…

Posted by Jhansi Samachar on Friday, August 21, 2020

Pehchan Faridabad पोर्टल पर इस तरह की खबर मिली. 21 अगस्त को छपी खबर में लिखा है कि भारत में कोरोना के संक्रमितों मरीजों का आंकड़ा 20 लाख के पार हो चुका है. इससे ठीक होकर घर जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. उनको दूसरे लोग परेशान करते हैं. इसकी शिकायत भी की गई है. इसको देखते हुए केंद्र सरकार की तरफ से नई गाइडलाइन जारी की गई है. इसके तहत मरीजों की लिस्ट वायरल करने पर तीन माह की कैद होगी.

Covid-19 fake news viral

PIB Fact Check @PIBFactCheck ने 26 अगस्त को इस खबर का खंडन किया है. 26 अगस्त को PIB ने ट्वीट किया,
दावा: एक व्हाट्सएप मैसेज में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है, जिसके अनुसार कोरोना संक्रमित रोगियों की सूची वायरल करने पर 3 माह की कैद होगी.
यह दावा फर्जी है, केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस से जुड़ी ऐसी कोई गाइडलाइंस जारी नहीं की है.

इसके अलावा The News Postmortem को इस आदेश से संबंधित किसी भी भरोसेमंद सोर्स की खबर नहीं मिली जिससे साबित हो सके कि यह दावा सही है. अगर ऐसी कोई गाइडलाइन जारी होती तो एएनआई की तरफ से ऐसी कोई खबर दी जाती लेकिन उसका ट्विटर हैंडल खंगालने पर भी हमें ऐसी कोई भी जानकारी नहीं मिली.

Postmortem रिपोर्ट: सोशल मीडिया पर किया जा रहा यह दावा बिल्कुल गलत है. केंद्र सरकार की तरफ से ऐसी कोई भी गाइडलाइन जारी नहीं की गई है. इस फर्जी पोस्ट को शेयर या पोस्ट न करें.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash