Home Viral सच्चाई 15 अगस्त 2018 का है य​ह वीडियो, राष्ट्रगान गाने से रोकने पर...

15 अगस्त 2018 का है य​ह वीडियो, राष्ट्रगान गाने से रोकने पर युवक हुआ था गिरफ्तार

मदरसे का एक वीडियो ट्वीट करके यूजर ने उस पर कार्रवाई की मांग की है. इसमें एक मुस्लिम युवक छात्रों को राष्ट्रगान गाने से रोकता है.

एक वीडियो ट्वीट करके यूजर ने कुछ सवाल खड़े किए हैं. वीडियो एक मदरसे का है. वहां राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया है. वीडियो में कुछ लोग भी खड़े दिख रहे हैं. राष्ट्रगान गाने को लेकर उनमें विवाद हो रहा है. इसको लेकर कुछ लोगों की एक शख्स से बहस हो रही है. वह शख्स छात्रों को राष्ट्रगान गाने से रोकता है. वीडियो में वह सारे जहां से अच्छा गाने की बात करता है.

abhishek jaiswal @abhishek1584206 ने 25 अगस्त को इस वीडियो को ट्वीट किया. उन्होंने लिखा,
If this video is true then take action against him
मतलब अगर यह वीडियो सही है तो इनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें.

The News Postmortem को जब य​ह पोस्ट मिली तो टीम ने इसकी पड़ताल शुरू की. हमने InVid टूल्स पर इस वीडियो को डालकर रिवर्स इमेज से इसकी छानबीन की. इससे हमें इतनी जानकारी मिली कि यह वीडियो अगस्त 2018 का है. इसमें हमें Avi dubey @avi_dubey1 का Feb 12, 2019 का ट्वीट मिला. इसमें उन्होंने 16 अगस्त 2018 के अपने ही ट्वीट के स्क्रीनशॉट दिए थे. इसमें लिखा था,
72 आजादी मना रहे देश में आज भी कुछ लोग ऐसे हैं, जिनके लिए ये देश उनका अपना नहीं है. जिला महाराजगंज में उत्तर प्रदेश में मौलाना ने राष्ट्रगान गाने से मना कर दिया और किसी को गाने भी नहीं दिया. मुख्यमंत्री जी का आदेश भी विफल.

इससे यह तो पता चल गया कि वीडियो इस साल का नहीं है. फिर हमने अनवारे तैबा गर्ल्स कॉलेज कीवर्ड से गूगल पर खोजबीन की. इससे हमें कई खबरों के लिंक मिले. The Lallantop के मुताबिक, 15 अगस्त 2018 को जब पूरा देश आजादी की 72वीं वर्षगांठ मना रहा था तब उत्तर प्रदेश के महराजगंज में मौलाना ने एक विवाद खड़ा कर दिया था. महाराजगंज के कोल्हुई में स्थित मदरसा अरबिया अहले सुन्नत अनवारे तैबा गर्ल्स कॉलेज में स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा झंडा तो फहराया गया लेकिन राष्ट्रगान का विरोध कर दिया गया. मौलाना ने इस्लाम का हवाला देते हुए बच्चों को राष्ट्रगान गाने से रोक दिया. कॉलेज में मौजूद टीचरों ने इसका विरोध किया. मौलाना राष्ट्रगान की बजाय सारे जहां से अच्छा गाने को कहता रहा.

दैनिक जागरण के अनुसार, इसका वीडियो वायरल होने के बाद मदरसे की मान्यता सस्पेंड कर दी गई थी. साथ ही इसकी मान्यता रद्द करने की भी बात उठी थी. इस मामले में महाराजगंज के जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने रिपोर्ट सौंपी थी. इसमें कहा गया था कि जुनैद अंसारी ने लोगों को राष्ट्रगान गाने से रोका था. इसका टीचर सुनील कुमार त्रिपाठी समेत दो अन्य शिक्षकों ने विरोध किया था. इसके बावजूद मदरसे में राष्ट्रगान नहीं हो पाया था. इस मामले में मदरसे के प्रिंसिपल मौलाना फजलुर्रहमान को हिरासत में ले लिया गया था जबकि मुख्य आरोपी के खिलाफ भी कार्रवाई की गई थी.

Times of India के अनुसार, मोहम्मद जुनैद अंसारी और दो अन्य लोगों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था. अंसारी को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया था.

Postmortem रिपोर्ट: यह वीडियो 15 अगस्त 2018 का है. इसमें आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था. साथ ही में प्रिंसिपल के खिलाफ भी कार्रवाई की गई थी. मदरसे की मान्यता सस्पेंड कर दी गई थी.

डोनेट करें!
न हम लेफ्ट के साथ हैं और न राइट के साथ. हम बस सच के साथ हैं. पत्रकारिता निष्पक्ष होनी चाहिए. फर्जी और नफरत फैलाने वाली खबरों के खिलाफ हम हमेशा जंग लड़ते रहेंगे और आपको ऐसी फेक पोस्ट से सचेत करते रहेंगे. अगर आप हमारा समर्थन करते हैं तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें हमें कुछ आर्थिक मदद दें और हमारा उत्साह बढ़ाएं.

Donate Now

FACT CHECK :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Fact Check: जमीन पर गिरे शख्स पर कूदने वाला फोटोग्राफर गिरफ्तार, जानिए किस संस्थान के साथ जुड़ा है आरोपी

असम में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज के बाद राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा जा रहा है. इसकी कई तस्वीरें और वीडियो...

Fact Check: क्या BBC के भ्रष्ट पार्टियों के सर्वे में Congress तीसरे नंबर पर है? जानिए क्या है सच

क्या BBC ने कोई सर्वे कराया है? जिसमें रिजल्ट आया है कि विश्व की 10 सबसे भ्रष्ट राजनैतिक पार्टियों में कांग्रेस तीसरे...

Fact Check: हाईकोर्ट ने लगाई थी गंगा व यमुना में मूर्ति विसर्जित करने पर रोक, अखिलेश यादव ने नहीं रोका था गणपति विसर्जन से

क्या सन् 2015 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आदेश पर वाराणसी में गणपति के प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगी थी? क्या...

Fact Check: नागपुर में CM आवास के पास हिंदू लड़कियों ने अपनी मर्जी से पहना हिजाब, जानिए कब होता है World Hijab Day

क्या नागपुर में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने हिंदू लड़कियों को हिजाब पहनाया है? इस तरह के दावे के साथ सोशल मीडिया पर...

Recent Comments

vibhash